फर्जी प्रमाण पत्र के जरिए नौकरी, डाक अधीक्षक ने दर्ज कराई रिपोर्ट

रायपुर। डाक अधीक्षक  रायगढ ने थाना सिटी कोतवाली में ग्रामीण डाक सेवक पदों पर भर्ती के लिए फर्जी अंक सूची देने का मामला दर्ज कराया है। मामले की जानकारी रायपुर डाक निदेशक और सी. पीएमजी को भी दी गई है।कोतवाली पुलिस डाक अधीक्षक के पत्र की जांच पर अभ्यार्थी स्वाति कवंर के अलावा 3 अन्य अभ्यार्थियों  पर धोखाधड़ी का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना कर रही है।

डाकघर से प्राप्त आवेदन अनुसार अभ्यार्थी स्वाती कवर आत्मज विरेन्द्र कुमार पो खम्हानिया थाना सीपत शाखा डाकपाल चिरमी (चिरमिरी) ऑनलाइन अपलोड अंकसूची के प्राप्तांक के आधार पर चयन हुआ, जिसके दस्तावेज सत्यापन की कार्यवाही हेतु चयनित अभ्यार्थी को अधीक्षक डाकघर रायगढ़ कार्यालय में उपस्थित होने  इंटीमेशन लेटर जारी किया गया।चयनित अभ्यार्थी द्वारा प्रस्तुत दस्तावेजों (अंकसूची) के भौतिक सत्यापन उपरांत अंकसूची को संबंधित बोर्ड छ.ग. राज्य ओपन स्कूल रायपुर से सत्यापित के लिये पत्राचार किया। इसके जवाब में पंजीयक छ.ग. राज्य ओपन स्कूल रायपुर ने बताया कि  सत्यापन  के लिए भेजी गयी अंकसूची उनके  द्वारा जारी नहीं की गयी है। अधीक्षक डाकघर रायगढ़ के पत्र अनुसार ग्रामीण डाक सेवकों की नियुक्ति 10वीं के आधार पर होती है, अभ्यार्थी द्वारा फर्जी दस्तावेज प्रस्तुत किया गया है।

आवेदन जांच पर आरोपी

स्वाति कवंर पिता बिरेन्द्र कुमार साकिन खमहरिया  सीपत  बिलासपुर।

भोजराम सिदार पिता राधेलाल सिदार ग्राम साजापाली  खरसिया चौकी जोबी रायगढ़।

केश्वर पिता मनहरण सिंह ग्राम बड़पारा करगढी पोड़ी दलहा जांजगीर चांपा।

कृष्ण कुमार पिता शिवलोचन गौटिया पारा बम्हनपुरी बलौदाबाजार।

इन सभी पर धोखाधड़ी का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *