मेरा बिलासपुर

संयुक्त थाना पुलिस ने किया नट गिरोह का पर्दाफाश…दो चैन स्नैचर को किया गिरफ्तार…फरार दो अन्य आरोपियों की तलाश

बिलासपुर—-सरकंडा और तोरवा थाना पुलिस ने अलग-अलग क्षेत्र में महिलाओं के गले से चैन लूटने वाले कुख्यात नट गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरोह के सदस्य राह चलते अकेली महिलाओं को बनाते थे। अब तक आरोपियों ने सरकंडा और थाना तोरवा क्षेत्र में अपने लूट पाट की करतब को अंजाम दिया है। पुलिस के अनुसार दो आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया है। जबकि दो फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है। पकड़े गए दोनो आरोपी दीवानपुर थाना पत्थल गांव जिला जशपुर के रहने वाले हैं। फरार अन्य दो आरोपियों का नाम  मंजय कुमार नट और आकाश नट है।
 पुलिस के अनुसार बन्नू दीवान ने बताया कि 28 मई की शाम करीब 7 बजे बजरंग मंदिर के लिए निकली थी। रास्ते में मोटर सायकल सवार दो अज्ञात व्यक्ति तेजी के साथ आए और गले में पहने सोने की चैन खींचकर फरार हो गये। चैन की कीमत करीब 1 लाख 60 हजार रूपयों से अधिक  है।  इसी तरह टी प्रभावती ने भी शिकायत दर्ज कराई। उन्होने बताया कि शाम 8:15 बजे सब्जी खरीदकर घर पहुंचते ही पीछे से दो मोटरसाइकिल सवार लडको ने गले में पहने सोने का मंगलसूत्र  खींचकर फरार हो गये। मंगलसूत्री की कीमत करीब एक लाख रूपये है।
दोनो ही मामलों में पुलिस कप्तान रजनेश सिंह के आदेश पर जिले के सभी थाना क्षेत्र में नाकाबंदी कर सरकंडा और तोरवा पुलिस ने अभियान चलाया। गुरुनानक चौक थाना तोरवा क्षेत्र में बताए गये हुलिया के अनुसार एक मोटर सायकल में सवार दो युवकों को रोका गया। इस दौरान पुलिस को देखते ही संदेदियों ने भागने का प्रयास किया।
पुलिस ने तत्काल घेराबंदी कर दोनों को धर दबोचा। पूछताछ के दौरान  संदेहियों ने अपना नाम मंजीत कुमार नट और मंटु कुमार नट बताया। आरोपियों ने बताया कि थाना सरकंडा और  तोरवा क्षेत्र में दो महिलाओं से सोने की चैन लूट कर अपने भाई मंजय कुमार नट और आकाश नट को दिया है। दोनो इस समय फरार हो चुके हैं। पुलिस ने दोनों आरोपियों को विधिवत गिरफ़्तार किया है। फरार अन्य दोनों आरोपियों की तलाशा जा रहा है।
                   

Join Our WhatsApp Group Join Now
Back to top button
close