जोगी कार्यकर्ताओं में जूतम पैजार…सचिव ने अध्यक्ष को पीटा…अमित की दखल पर मामला शांत

IMG-20171101-WA0016बिलासपुर— छत्तीसगढियों के लिए न्याय दिलाने निकले जोगी की अधिकार यात्रा में कार्यकर्ताओं में आज जमकर जूतम पैजार हुआ। घटना गोलबाजार स्थित पंजाब आयरन के सामने की है। युवा और वरिष्ठ कार्यकर्ता जोगी के सामने नफरी कराने की होड़ में उलझ गए। इसके पहले अमित जोगी बीच बचाव करते दस बीस लोग एक दूसरे को लात घूंसा रसीद कर चुके थे। खासतौर पर प्रदेश सचिव बंटी खान और जोगी कांग्रेस के युवा विंग शहर अध्यक्ष ने एक होकर छात्र विंग प्रदेश अध्यक्ष टिकेश प्रताप सिंह की जमकर पीटा । मामला जोगी के रोक टोक के बाद शांत हुआ।

Join WhatsApp Group Join Now

                                        अमित की की छत्तीसगढ़िया अधिकार यात्रा में जमकर भगदड़ देखने को मिला। रैली में कार्यकर्ताओं के बीच जमकर जूतम पैजार हुआ। जोगी कांग्रेस प्रदेश सचिव बंटी खान और युवा विंग शहर अध्यक्ष फारूख खान अपने साथियों के साथ छात्र विंग प्रदेश अध्यक्ष पर सरे राह लात घूंसों की बौछार की। देखते ही देखते यात्रा के रंग में भंग पड़ गया। आखिर में अमित जोगी को बीच बचाव में कूदना पड़ा।

             एक नवम्बर को अजीत जोगी के आह्रवान पर छत्तीसगढ़िया अधिकार यात्रा का श्रीगणेश होना था। जिले के 150 अधिक कार्यकर्ता गोलबाजार में इकठ्ठा हुए। कार्यक्रम के अनुसार कार्यकर्ताओं की सभा को अमित जोगी के भाषण के बाद रवाना होना था। ठीक वैसा ही हुआ…अमित जोगी ने भाषण दिया। इसके बाद यात्रा को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया।

                                      यात्रा के बीच कहीं से धक्का मुक्की हुई। देखते ही देखते गोलबाजार कुरक्षेत्र का मैदान बन गया। मामला दो गुटों के बीच में आकर उलझ गया। प्रदेश सचिव बंटी खान,  युवा शहर अध्यक्ष फारूख और दर्जनों समर्थकों ने एक साथ छात्र विंग प्रदेश अध्यक्ष टिकेश प्रताप सिंह पर धावा बोल दिया। दोनों गुटों के बीच जमकर लात घूसों की बौछार हुई। इसके पहले मामला अमित जोगी को समझ में आता…तब तक दोनों गुटों के बीच कई दौर की फाइटिंग हो चुकी थी। जिसके कारण दोनों गुटों के लोगों को चोट पहुंची है।

                     नाम नहीं आने की शर्त पर पार्टी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि लड़ाई की  मुख्य वजह अमित जोगी के सामने एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ है। धक्का मुक्की तो एक बहाना है। राजनीतिक यात्रा में धक्का मुक्की…मारपीट का कारण हो ही नहीं सकता है। खासतौर पर आज मारपीट का कारण धक्का मुक्की तो थी ही नहीं।

                         जोगी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के अनुसार बंटी खान और फारूख खान अपने समर्थकों को खुद के लिए जिन्दाबाद का नारा लगवा रहे थे। इसी बीच टिकेश प्रताप के समर्थकों ने भी टिकेश के समर्थन में नारेबाजी की। टिकेश समर्थकों की आवाज कुछ ज्यादा तेज थी। जिसके कारण बंटी और फारूख समर्थकों की आवाज जोगी तक नहीं पहुंच रही थी। जैसा की भीड़ से ऐसा अंदाजा हुआ। बंटी और फारख समर्थकों ने टिकेश समर्थकों को चुप रहने को कहा। लेकिन टिकेश समर्थक अपने नेता के पक्ष में नारे लगाते रहे। इसी बीच बंटी गुट ने जानबूझकर टिकेश समर्थक को धक्का दिया। फिर जो कुछ हुआ उस नजारे को सभी लोगों ने देखा।

                           जोगी कांग्रेस के नेता ने बताया कि यात्रा में ज्यादातर ऐसे लोग थे..जिन्हें कांग्रेस का विशेष आशीर्वाद हासिल है। इसमें कुछ नेता यकायक युवा से वरिष्ठ बन गए हैं। चाहे बंटी समर्थक हो या टिकेश समर्थक सभी लोग अपने नाम की नारेबाजी करवा कर जोगी के सामने बड़ा नेता साबित करना चाहते हैं। जबकि अमित जोगी को इसकी जानकारी अच्छी तरह से है कि कौन क्या कर रहा है। इस बात की भी जानकारी है कि जूतम पैजार की वजह क्या है। व्यक्तिगत वजह और आज की घटना से जोगी कांग्रेस को धक्का लगा है। क्योंकि जोगी कार्यकर्ता पार्टी के लिए नहीं केवल अपने बारे में सोचने लगे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close