हमार छ्त्तीसगढ़

Anganwadi- प्रदेश के 46 हजार से अधिक आंगनबाड़ी केंद्रों में लटकेंगे ताले

रायपुर।23 जनवरी से प्रदेश भर के 46660 आंगनबाड़ी और 6548 मिनी आंगनबाड़ी केन्द्रो मे लटकेगे ताला.इनमे कार्यरत लगभग एक लाख आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ता सहायिका राजधानी रायपुर के सड़क पर उग्र प्रदर्शन करने की तैय्यारी कर ली गई है।

भारी तादात मे प्रदेश के विभिन्न जिले दूर दराज की है जिसमे जशपूर.बलरामपुर .सूरजपुर.कोरिया एम.सी.बी. एवं सुकमा.दन्तेवाड़ा बीजापुर नारायणपुर जिला से आंगनबाड़ी की महिलाये आज रात्रि से ही निकलकर रायपुर सुबह ही पंहुच जायेगी।

गौरतलब राज्य सरकार द्वारा अपने चुनावी वायदे मे सरकार आने पर नर्सरी शिक्षक पर उन्नयन.और कलेक्टर दर पर मानदेय की बातो को याद दिलाते दिलाते हुये चार वर्ष बित गये लेकिन आज तक सरकार द्वारा ध्यान नही दिया जिसै आंगनबी कार्रकर्त्ताओ मे निराशा और आक्रोश ब्याप्त हे। और मजबूर हो आंगनबाडी कार्यकर्त्ता सहायिकाओ के विभिन्न संगठनो द्वारा एक संयुक्त मंच बनाकर एक बार फिर से सरकार काध्यानाकर्षण हेतु 23 से 27 तक रायपुर राजधानी मुख्यालय मे पांच दीन का महापड़ाव करने का निर्णय लिया गया है।

संयुक्त मंच के प्रान्ती पदाधिकारियो के अनुसार इसकी सूचना हमारे द्वारा 30 दिसम्बर को सरकार को दे चुके है उसके बाद भी सरकार हमारी अधिकारो के लिये किये जाने वाली इस हड़ताल को दबाना चाहती है और हड़ताल को रोकना चाहती है और बुढ़ातालाब मे हम महिलाओ को शान्तिपूर्ण प्रदर्शन और बैठने के लिये स्वीकृति देने मे भी आना कानी कर रही है।

लेकिन आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ता सहायिकाये इस बात की परवाहकिये बगैर रायपुर पहुंचेगे और शान्तिपूर्वक हड़ताल को जारी रखेगे.उक्त जानकारी.संयुक्त मंच के संयोजक मण्डल के सदस्य सर्व श्रीमती पदमा साहू.सरिता पाठक.रुक्मणी गुप्ता.हेमा भारती.गजेन्द्र झा.के द्वारा संयुक्त रूप से देते हुये प्रदेश के सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्त्ता सहायिकाओ को अपील किया गया है कि अधिक से अधिक संख्या मे उपस्थित होकर संघर्ष को सफल बनाये।

एलबी व्याख्याताओं को मिला समूह बीमा और चिकित्सा भत्ता का लाभ,DEO का आदेश जारी
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS