इंडिया वाल

जिले में मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान की हुई शुरूआत,कलेक्टर-CEO ने करायी जांच

नारायणपुर,- कलेक्टर ऋतुराज रघुवंशी और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री देवेश कुमार ध्रुव ने आज कलेक्टोरेट में मलेरिया मुक्त छत्तसीगढ अभियान की शुरूआत मलेरिया जांच करा कर की। इस दौरान उन्होंने मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान की तैयारियों की जानकारी ली और अधिकारियों से दल गठन, ग्रामों की संख्या, जनसंख्या, स्कूल, आश्रम, आंगनबाड़ी आदि मे दर्ज संख्या आदि के बारे में पूछा । उन्होंने कहा कि इस अभियान को जिले के अंदरूनी क्षेत्रों तक पहुंचायें और लोगों की मलेरिया जांच कर उन्हें उचित मार्गदर्शन देवंे।

इस अवसर पर बीएमओ डॉ केशव साहू ने बताया कि मलेरिया के मामलों को निम्नतम स्तर तक ले जाकर पूर्ण मलेरिया मुक्त जिले के लक्ष्य को हासिल करने के लिए लगातार यह अभियान चलाया जा रहा है। मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के सातवें चरण की शुरूआत आज से हो गयी है, जो एक माह तक संचालित किया जायेगा। एक दिसम्बर से शुरू हो रहे सातवें चरण में स्वास्थ्य विभाग की टीम जिले के घने जंगलों और पहाड़ों से घिरे दुर्गम एवं दूरस्थ इलाकों में घर-घर पहुंचकर सभी लोगों में मलेरिया की जांच करेगी।

इस दौरान पॉजिटिव पाए गए लोगों को तत्काल मलेरिया की दवाई खिलाई जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि मलेरिया मुक्त छत्तीसगढ़ अभियान के तहत मलेरिया की जांच और इलाज के साथ ही इससे बचाव के लिए जन-जागरूकता संबंधी गतिविधियां भी चलाई जाएंगी। जिले में में दवाईयों की पर्याप्त मात्रा उपलब्धता है। इसके साथ ही इस अभियान में लगने वाले अधिकारी-कर्मचारियों के दल गठन, मोबाईल यूनिट, वाहनों आदि की व्यवस्था एवं रूट चार्ट तैयार कर लिया गया है। इस दौरान लोगों को मच्छरदानी के प्रयोग के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। साथ ही घरों के आसपास जमे पानी और नालियों में डीडीटी या जले हुए तेल का छिड़काव किया जाएगा। घर के आसपास स्वच्छता बनाए रखने और मच्छरों को पनपने से रोकने के उपाय भी लोगों को बताए जाएंगे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS