मनोज खाण्डे बने.. तहसील के दूसरे तहसीलदार.. कर्मचारियों ने कहा..हर दिन कुछ सीखने को मिला

बिलासपुर—(रियाज अशरफी )बुधवार को नए तहसीलदार मनोज खांडे सीपत की जिम्मेदारी को संभाला। इस दौरान लोगों ने शशिभूषण के बतौर तहसीलदार संक्षिप्त कार्यकाल को याद किया। कर्मचारियों ने बताया कि जब भी सीपत तहसील की चर्चा होगी। तब तब पहले तहसीलदार शशिभूण सोनी को याद किया जाएगा।खबरों की पल-पल की अपडेट के लिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़े क्लिक करें यहां।
       सीपत तहसील के दूसरे तहसीलदार के रूप में मनोज खांडे ने बुधवार को चार्ज लिया।  मनोज खांडे इससे पहले 3 अक्टूबर 2015 से 20 जुलाई 2016 तक 9 माह अतिरिक्त तहसीलदार के रूप में कार्य कर चुके है। उन्हें तत्कालीन तहसीलदार शशिभूषण सोनी ने चार्ज दिया था। बता दे कि शशि भूषण सोनी ने 1 जनवरी 2022 को उप तहसील सीपत में अतिरिक्त तहसीलदार के रूप में पदभार ग्रहण किया।  इसके बाद सीपत को पूर्ण तहसील का दर्जा हासिल हुआ। 28 अप्रैल से 25 मई तक सीपत तहसील में प्रथम तहसीलदार के पद पर कार्य किया।
27 दिन का कार्यकाल रहा
सीपत को पूर्ण तहसील का दर्जा मिलने के बाद शशि भूषण सोनी को 28 अप्रैल 2022 को सीपत तहसील के  पूर्ण तहसीलदार की जिम्मेदारी दी गयी। इसी के साथ सोनी को सीपत तहसील के पहले तहसीलदार बने। सोनी का पूर्ण तहसीलदार के रूप में मात्र 27 दिन का रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *