मस्तूरी डकैतीः कोटमी सोनार क्षेत्र में दिखे बाइकर डकैत..सीसीटीवी की सूचना..फिर भी हाथ खाली

बिलासपुर—-दर्रीघाट डकैती के पूरे 36 घण्टे बाद भी पुलिस का हाथ अब तक सीसीटीवी फुटेज के अलावा कुछ हासिल नहीं हुआ है। लेकिन पुलिस का दावा है कि फरार डकैतों का पीछा लगातार किया जा रहा है। जल्द ही पुलिस के हाथ डकैतों के कालर तक पहुंच जाएगा। कोटमी सुनार से फरार सातों आरोपियों का सीसीटीवी फुटेज बरामद किया गया है। सूत्र ने बताया कि डकैती काण्ड में लोकल विवाद से इंकार नहीं किया जा सकता है।

                   जानकारी देते चलें कि 13 जनवरी की दोपहर करीब 11 बजे के आसपास मस्तूरी थाना क्षेत्र के दर्रीघाट में तीन बाइक सवार सात लोगों ने टाकेश्वर पाटले के घर धावा बोला। टाकेश्वर पाटले के परिजनों ने पुलिस को बताया कि सभी डकैत नकाब बांध कर आए थे।

          डकैती की जानकारी के बाद पुलिस टीम समेत आईजी रतनलाल डांगी और पुलिस कप्तान पारूल माथुर भी घटना स्थल पहुंचे। दोनो आलाधिकारियों ने फरार डकैतों के पीछे पूरी टीम को झोंक दिया। इस दौरान पुलिस को हाइवे पर लगे सीसीटीवी फुटेज से जानकारी मिली कि सातो आरोपी तीन मोटरसायकल से जयराम नगर की तरफ भाग रहे है। 

                             सूत्रों ने बताया कि घटना के दूसरे दिन पुलिस टीम ने कोटमी सोनार से सीसीटीवी फुटेज में सभी सातों आरोपियों को बाइक से फरार होते देखा गया है। तीनों बाइक के नम्बर को पढ़ने का प्रयास किया जा रहा है। बहरहाल पुलिस को अभी तक किसी प्रकार की सफलता नहीं मिली है। पुलिस जांजगीर भी पहुंच गयी है। स्थानीय पुलिस के सहयोग से जगह जगह सीसीटीवी फुटेज को खंगाला जा रहा है।

           सूत्र ने बताया कि डकैती के पीछे स्थानीय विवाद से भी इंकार नहीं किया जा सकता है। टाकेश्वर जमीन खरीदी बिक्री का काम करता है। घटना के दिन घर से आरोपियों ने 2 लाख 41 हजार नगद समेत कुल 4 लाख से अधिक सामान पार किया है। घर की महिलाओं से आरोपियों को बहुत ज्यादा विरोध का भी सामना नहीं करना पड़ा। आरोपी आराम से अपने काम को अंजाम देने के बाद भागने में फरार सफल हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *