मेरा बिलासपुर

कलेक्टर ने प्राचार्यों, संकुल समन्वयकों एवं अधिकारियों के ली बैठक

कोण्डागांव/ बुधवार को नगरपालिका ऑडिटोरियम में कलेक्टर दीपक सोनी द्वारा बोर्ड परीक्षाओं के पूर्व बच्चों के बेहतर मार्गदर्शन हेतु शिक्षकों को प्रेरित करने के लिए प्राचार्यों, संकुल समन्वयकों, बीईओ एवं शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक आयोजित की। इस बैठक में कलेक्टर ने बोर्ड परीक्षाओं में बच्चों की सहायता एवं उनके उत्कृष्ट मार्गदर्शन हेतु सभी शिक्षा विभाग के अधिकारियों तथा प्राचार्यों को प्रेरित करते हुए उनसे उत्कृष्ट परिणाम हेतु कार्य योजना निर्माण पर विस्तृत चर्चा की।

इस अवसर पर कलेक्टर ने जिले के लिए नवीन ई गुरु शिष्य योजना का शुभारंभ किया। इस योजना के अंतर्गत 10वीं एवं 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों को आने वाले बोर्ड परीक्षाओं के पूर्व तैयार करने हेतु तीन बार मॉडल परीक्षाओं का आयोजन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त विषय विशेषज्ञ शिक्षकों का एक दल विकासखंड वार गठित किया जाएगा जो कि प्रतिदिन छात्रों को सुबह 8 बजे से लेकर सायं 8 तक अध्ययन संबंधी कोई भी समस्या होने पर फोन के माध्यम से उन्हें मार्गदर्शन प्रदान करेंगे साथ ही स्कूलों में जाकर यह दल विद्यार्थियों को विगत 3 वर्षों के प्रश्न पत्रों तथा उनके मॉडल उत्तरों पर चर्चा कर उन्हें बेहतर उत्तर लिखने हेतु मार्गदर्शन प्रदान करेंगे। इस संबंध में कलेक्टर ने बताया कि इस योजनांतर्गत ना केवल विशेषज्ञ शिक्षक अपितु सेवा भाव से यदि कोई नागरिक अथवा प्रशासनिक अधिकारी अपनी सेवाएं बच्चों के बेहतर भविष्य हेतु देना चाहे तो वह भी अपनी भागीदारिता स्वेच्छा से दे सकते हैं। विद्यार्थी विशेषज्ञ शिक्षकों से यदि कोई सवाल संबंधित विद्यालय के शिक्षकों द्वारा हल नहीं हो रहा है तो सहायता ले सकेंगे।

दीक्षांत समारोह से पहलेः कुलपति और छात्र परिषद आमने-सामने..मामला पुलिस तक पहुंचा..छात्रों ने लगाई गुहार

मॉडल परीक्षाओं का आयोजन तीन पाली में 20 जनवरी से किया जाएगा। प्रथम पाली में 20 से 31 जनवरी द्वितीय पाली में 1 से 15 फरवरी प्रति पाली में 16 से 28 फरवरी तक परीक्षाओं का आयोजन होगा। प्रत्येक पाली में बेहतर प्रदर्शन करने वाले प्रत्येक विकासखंड के 10 विद्यार्थियों को जिला प्रशासन द्वारा सम्मानित किया जाएगा। इस अवसर पर कलेक्टर ने जिले में बोर्ड परीक्षाओं के परिणामों को शत-प्रतिशत तक ले जाने के लिए सभी प्राचार्यों को अर्धवार्षिक परीक्षा परिणाम में प्रदर्शन के आधार पर बच्चों को वर्गीकृत कर निम्न परिणाम वाले बच्चों पर अधिक ध्यान देने हेतु प्रेरित किया तथा अच्छे परिणाम लाने वाले बच्चों को प्रवीणता सूची में स्थान पाने हेतु प्रोत्साहित करने को कहा।

कलेक्टर ने परीक्षा पूर्व बच्चों को होने वाले मानसिक तनाव से बचाने हेतु बच्चों तथा उनके अभिभावकों से चर्चा कर प्रोत्साहित करने को कहा साथ ही विद्यालयों में बोर्ड परीक्षा को लेकर की जा रहे नवाचारों के संबंध में प्राचार्यों से चर्चा करते हुए उनके साथ उनके अनुभवों को भी साझा किया। एनीमिया मुक्त कोण्डागांव अभियान में भी सभी को योगदान देने हेतु कहा। कलेक्टर ने बोर्ड परीक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन करने वाले स्कूलों को पुरस्कृत करने की भी घोषणा की। इस अवसर पर कलेक्टर ने शिक्षा विभाग द्वारा लगाई गई नवाचारी शैक्षणिक कार्यों के फोटो प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी अशोक पटेल, जिला मिशन समन्वयक महेंद्र पांडे, वेणुगोपाल राव, पीरामल फाउंडेशन की ओर से प्रदीप राव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS