तीन दिन की कार्रवाई में खनिज विभाग को 11 लाख से अधिक का मुनाफा.,अधिकारी ने कहा..सख्त होगी अवैध कारोबारियों पर कार्रवाई

बिलासपुर— मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद पिछले तीन चार दिनों की गहन कार्रवाई से रेत माफियों की हौसले टूटते नजर आ रहे है। तो दूसरी तरफ खनिज विभाग का खजाना भी भरता जा रहा है। पिछले तीन दिनों की कार्रवाई में 450 हाइवा रेत बरामद हुआ है। अधिकारियों की माने तो खनिज विभाग को करीब 11 लाख रूपए का विशुद्ध राजस्व मुनाफा होगा।

कुल 450 हाइवा रेत का पहाड़ जब्त

                    पिछले तीन चार दिनों में सघन कार्रवाई के दौरान जिला प्रशासन और खनिज विभाग समेत पुलिस टीम ने भारी मात्रा में रेत का अवैध पहाड़ बरामद किया है। अब तक की कार्रवाई में कुल 450 से अधिक हाइवा रेत बरामद किया गया है। कार्रवाई के दौरान कुछ लोगों ने अवैध भण्डारण की रायल्टी समेत पेनाल्टी दिया जाना कबूल किया है। तो कई लोग अब भी कार्रवाई से बचने सामने नहीं आ रहे हैं। वही खनिज विभाग ने फैसला किया है कि बरामद रेत बाजार दर पर पेनाल्टी के साथ ठेकेदारों को देंगे। शर्ति इतनी होगी कि रेत का उपयोग सिर्फ सरकारी काम में उपयोग किया जाएगा।

कुल 11 लाख से अधिक राजस्व

                      खनिज विभाग के संयुक्त संचालक डॉ.डी.के.मिश्रा ने बताया कि पहले दिन की कार्रवाई में जिला प्रशासन ने राजकिशोर नगर में 175 हाइवा रेत का पहाड़ जब्त किया। रेत को निगम प्रशासन के हवाले किया गया है। रेत का उपयोग सरकारी काम काज में करेगा। निगम प्रशासन से हमें प्रति हाइवा करीब 235 रूपए मिलेंगे। खनिज विभाग को सात लाख से अधिक रूपयों का राजस्व मिलेगा। 

               दूसरे और तीसरे दिन की कार्रवाई में लिंगियाडीह से अलग 200 और 75 हाइवा रेत का भण्डारण खनिज विभाग ने बरामद किया है। कार्रवाई के दौरान कई लोगों ने रेत को डम्प करना बताया। साथ ही रायल्टी और पेनाल्टी के साथ रेत की कीमत देने को कहा है। बाजार मूल्य में पेनाल्टी के साथ खनिज विभाग डम्प किए गए रेत को देने के लिए तैयार है। अनुमान है कि 275 हाइवा रेत से खनिज विभाग को सात लाख से अधिक राजस्व मुनाफा होगा। इस तरह कुल 450 हाइवा रेत से खनिज विभाग को 11 लाख से अधिक राजस्व मिलना निश्चित है।

                 खनिज अधिकारी डॉ.मिश्रा ने बताया कि डम्प रेत को लेकर जिम्मेदार लोगों को नोटिस भेजा गया है। यदि समय पर बाजार मूल्य और पेनाल्टी का भुगतान नहीं करते हैं तो उचित कार्रवाई की जाएगी। डम्प रेत को शासन के अधिक निर्माण कार्य में रायल्टी भुगतान के बाद दिया जाएगा।

लगातार और सख्त होगी कार्रवाई

              संयुक्त संचालक खनिज विभाग डॉ.दिनेश कुमार मिश्रा ने बताया कि कलेक्टर के निर्देश पर लगातार और सख्त कार्रवाई होगी। जिला प्रशासन की संयुक्त के अलावा खनिज विभाग की टीम लगातार कार्रवाई कर रही है। गश्त के साथ मुखबीर भी लगाया गया है। यदि कोई रेत का अवैध उत्खनन करते पकड़ा गया तो विधि सम्मत और कठोर कार्रवाई होगी। कलेक्टर का स्पष्ट निर्देश है कि किसी भी सूरत में रेत के अवैध कारोबारियों को नहीं छोड़ा जाएगा। वाहनों की भी जब्ती होगी।          

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *