बिलासपुर में इसीलिए गैंगवार के हालात बन गए,तो राजधानी समेत प्रदेश के दीगर इलाकों में लूटपाट, चाकूबाजी,अपहरण

रायपुर।नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा है कि बदनीयती और अपनी विफलताओं के बोझ से राजनीतिक तौर पर कुंठित नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार की कुनीतियों के चलते छत्तीसगढ़ नशे के सौदागरों की शरणस्थली बन गया है और नशाखोरी की बढ़ती लत से अपराधों में लगातार इजाफा हो रहा है। श्री कौशिक ने कहा कि नशाखोरी और अपराधों पर नियंत्रण के प्रदेश सरकार के दावे झूठे साबित हो रहे हैं। राजधानी में शराब पी रहे दो लोगों द्वारा अभद्रता करने से तमतमाए एक नाबालिग द्वारा की गई चाकूबाजी इसकी तस्दीक कर रही है।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि कांग्रेस की प्रदेश सरकार की कुनीतियाँ छत्तीसगढ़ के न केवल युवा, अपितु अब तो नाबालिगों का भी भविष्य चैपट कर रही हैं। इसीलिए अब ये मामले सामने आ रहे हैं कि प्रदेश में नाबालिग बच्चे नशाखोरी और अपराधों में लिप्त हो रहे हैं, जो प्रदेश के लिए बेहद चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि पिछले तीन वर्षों में जिस प्रकार शराब और मादक पदार्थों का वैध-अवैध व्यापार बढ़ा है, प्रदेश में बढ़ते तमाम तरह के अपराध नशे के इसी कारोबार का दुष्परिणाम हैं। अब नाबालिग भी इसके चंगुल में फँस रहे हैं और वे अपना पूरा जीवन एक गलत दिशा में ले जा रहे हैं। लेकिन प्रदेश की कांग्रेस सरकार को इन दुष्परिणामों से कोई सरोकार नहीं रह गया है और उसका पूरा ध्यान माफियाओं को खुश रखकर इस कारोबार से होने वाली कमाई और कमीशनखोरी पर ही केंद्रित है ताकि नशे का व्यापार बढ़ता रहे और नशेबाज खुश रहे और सत्ता की धौंस दिखाकर कांग्रेस के नेता-कार्यकर्ता अपनी और आलाकमान की तिजोरी भरने में लगे रहें।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि पूर्ण शराबबंदी के वादे से मुकरने वाली प्रदेश सरकार शराबबंदी के मुद्दे पर नित-नई लफ्फाजी करके प्रदेश के युवा व किशोरों के साथ षड्यंत्र कर रही है। छत्तीसगढ़ मॉडल का ढोल पीट रहे कांग्रेस के लोग भाजपा को ट्विटर से बाहर देखने की सलाह देने के बजाय खुद अहंकार का चश्मा उतारकर सत्ता के गलियारों के बाहर निकलकर प्रदेश की हो रही दुर्गति को रू-ब-रू देखें और अपने तथाकथित छत्तीसगढ़ मॉडल की जमीनी सच्चाई पर शर्म महसूस करें। उन्होंने कहा कि नशे के साथ-साथ प्रदेशभर में अपराधों के बढ़ते ग्राफ को ही क्या कांग्रेस के लोग छत्तीसगढ़ मॉडल बताकर ढिंढोरचियों की तरह बेसुरा राग नहीं आलाप रहे हैं? राजधानी में नशे के फैलते नेटवर्क के लिए आखिर प्रदेश सरकार कब अपनी जिम्मेदारी मानेगी? 20 रुपए का इंजेक्शन 80 रुपए में बेचकर नशे के कारोबारी चैगुने मुनाफे की लालच में नशेड़ियों का कुनबा बढ़ा रहे हैं।

नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि नशे के इसी गोरखधंधे से अपराधों का कनेक्शन है और बिलासपुर में इसीलिए गैंगवार के हालात बन गए हैं तो राजधानी समेत प्रदेश के दीगर इलाकों में लूटपाट, चाकूबाजी, अपहरण, दुष्कर्म-सामूहिक दुष्कर्म, मारपीट, हत्याओं का सिलसिला चल रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के तमाम दावों के बावजूद प्रदेश में गांजा-अफीम की बरामदगी होना इस बात का साफ संकेत है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार पूरी तरह नाकारा हो चली है और झूठे दावे करके अन्य प्रदेशों में जाकर न केवल मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनकी मंडली के लोग झूठी वाहवाही बटोरने का शर्मनाक उपक्रम कर रहे हैं, बल्कि अब वे अपने पूर्व अध्यक्ष व सांसद राहुल गांधी तक से झूठ कहलवाने में भी कतई नहीं झिझक रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *