अपहरण से पहले नाबालिग से दुराचार.. नागपुर में पकड़ाया आरोपी..युवती भी बरामंद

बिलासपुर— पुलिस ने नाबालिग युवती के साथ बलात्कार के बाद अपहरण किए जाने की शिकायत पर दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी का नाम राहुल बाथम ऊर्फ सागर है। आरोपी को नागपुर में रेलवे सुरक्षा के सहयोग से पकड़ा गया। कार्रवाई के बाद पुलिस ने आरोपियों को न्यायालय और नाबालिग युवती को परिजनों के हवाले कर दिया गया है।

                    पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार नाबालिग पीड़िता का परिचय इन्स्टाग्राम के जरिए राहुल बाथम ऊर्फ सागर से हुआ। सागर नूराबाद जिला मुरैना और उसका साथी शैलेन्द्र बाथम ग्वालियर का रहने वाला है। पीडिता कटघोरा की रहने वाली है।

                  पीड़िता और सागर के बीच इन्स्टाग्राम से परिचय के बाद मोबाइल बातचीत होने लगी। इसी दौरान आरोपी ने प्रेम जाल में फंसाकर नाबालिग को शादी करने की बात कही। 

               योजनानुसार पीड़िता अपने घर  12 जुलाई को घर से भागकर बिलासपुर पहुंची। अपनी सहेली के घर पहुंचने के बाद पीड़िता ने प्रेमी को बिलासपुर बुलाया। राहुल बाथम अपने साथी शैलेन्द्र बाथम बिलासपुर पहुंच गए। पीड़िता और सागर की इस दौरान पहली मुलाकात हुई। आरोपी ने पीडिता को ग्वालियर ले जाने और शादी का झांसा दिया। और दो तीन दिनों तक लगातार हवस का शिकार बनाया। 

                   इस दौरान पीडिता दोस्त के घर में ही रही। 15 जुलाई को आरोपी सागर और शैलेन्द्र बाधम के साथ पीडिता गोंड़वाना एक्सप्रेस से ग्वालियर के लिए रवाना हुई।

                नागपुर में आरपीएफ की टीम ने चेकिंग के दौरान नाबालिग से पूछताछ की। इस दौरान दोनो आरोपी राहुल बाथम और शैलेन्द्र बाथम से भी पूछताछ हुई। आरपीएफ ने नाबालिग लड़की को कल्याण समिति के हवाले किया गया। बलात्कार की पुष्टि होने के बाद राहुल और शैलेन्द्र बाथम के खिलाफ नागपुर पुलिस ने शून्य में अपराध दर्ज किया गया।

                 पूछताछ के दौरान लड़की ने बताया कि राजकिशोर नगर स्थित दोस्त के घर आरोपी ने सम्बन्ध बनाया था। जानकारी के बाद बलात्कार और अपहरण का मा्मला दर्ज किया गया। पूछताछ के बाद आरोपी को आईपीसी की धारा 363,366(1),376(2) और 34 के तहत कोर्ट में पेश किया गया। पुलिस ने नाबालिग लड़की को परिजनों के हवाले कर दिया है। स

Tags:,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *