वरिष्ठ पत्रकार से बदसलूकीःन्यायधानी से राजधानी तक पत्रकारों में आक्रोश..मेयर ने कहा..लेंगे एक्शन ..विधायक समेत कांग्रेस नेताओं ने जताई नाराजगी

बिलासपुर— प्रदेश के वरिष्ठ पत्रकार, सीजीवाल के प्रधान संपादक से रिपोर्टिंग के दौरान निगम कर्मचारी की तरफ से बदसलूकी का मामला धीरे धीरे गरमता जा रहा है। न्यायधानी से लेकर राजधानी तक पत्रकारों ने  प्रमील शर्मा के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। घटनाक्रम को लेकर कांग्रेस नेताओं समेत बिलासपुर की आमजनता में प्रमील शर्मा के खिलाफ गहरा आक्रोश है। मामले की जानकारी के बाद मेयर रामशरण यादव ने खेद प्रकट करते हुए प्रमील शर्मा के खिलाफ सख्त एक्शन लिए जाने की बात कही है।

                   बताते चलें कि शुक्रवार को निगम का तोड़ू दस्ता अतिक्रमण हटाने के नाम पर मगला चौक के पास पहुंचा। तोड़ू दस्ता पहुंचते ही मौके पर लोगों की भीड़ हो गयी। भीड़ को देख सीजी वाल के प्रधान संपादक रूद्र अवस्थी भी मौके पर पहुंच गए। बताते चलें कि घटना स्थल से कुछ दूरी पर वरिष्ठ पत्रकार का निवास स्थान है।

                  कार्रवाई को देखते ही रूद्र अवस्थी ने वीडियो रिकार्डिंग करना शुरू किया। इसी दौरान अतिक्रमण दस्ता प्रभारी प्रमील शर्मा ने बहुत ही गंदा व्यवहार किया। इसके पहले मौके पत्रकार पहुंचते प्रमील गायब हो गया। मामले की जानकारी मेयर तक पहंंची।  मेयर रामशरण यादव ने तत्काल वरिष्ठ पत्रकार से खेद प्रकट किया। साथ ही प्रमील के खिलाफ एक्शन लिए जाने की बात कही।

         वरिष्ठ पत्रकार से अभद्र व्यवहार किए जाने की खबर स्थानीय विधाय शैलेष पाण्डेय तक पहुंची। उन्होने घटना के लिए दुख जाहिर किया। साथ ही जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी ने भी नाराजगी जाहिर की है। कांग्रेस नेता देवेन्द्र सिंह बाटू और अरविन्द शुक्ला ने भी घटना की निंदा की है। कमोबेश सभी ने प्रमील शर्मा के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाने की बात कही है।

                     रायपुर में भी धटनाक्रम को लेकर पत्रकारों के बीच आक्रोश फैल गया है। वरिष्ठ पत्रकारों ने प्रमील के खिलाफ सख्त कदम उठाने की बात कही है।   बिलासपुर में भी वरिष्ठ से कनिष्ठ पत्रकारों ने प्रमील शर्मा को संविदा से हटाने की मांग की है।

कान्यकुब्ज समाज ने पारित किया निंदा प्रस्ताव

      रूद्र अवस्थी से बदसलूकी किए जाने को लेकर कान्यकुब्ज समाज ने भी नाराजगी जाहिर किया है। समाज के लोगों ने पंडित रामप्रसाद शुक्ला और अरविन्द दीक्षित की अगुवाई में प्रमील के खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाया है। लाकडाउन के समय मंगला चौक के पास गरीबों की दुकान हटाये जाने को अमानवीय बताया है। वरिष्ठ पत्रकार के साथ दुर्व्यव्हार को अक्षम्य अपराध कहते हुए जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *