निजी जमीन पर मनरेगा काम..अविश्वास प्रस्ताव की तैयारी..आधा दर्जन BJP पार्षदों ने दिया इस्तीफा

बिलासपुर/होली न्यूज–(अति विशेष संवाददाता)–खबर मिल रही है कि जिला पंचायत अध्यक्ष अरूण चौहान की चुप्पी और मनरेगा के काम में सेंधमारी से नाराज सदस्यों ने अविश्वास प्रस्ताव के लिए आवेदन दिया है। अविश्वास प्रस्ताव की खबर से  भाजपा खेमें में खुशी की चिन्गारी फैल गयी है..। लेकिन यह खुशी बहुत देर तक नहीं टिकी। क्योंकि कुछ घण्टे बाद ही दिग्गज पार्षध दुर्गा सोनी समेत आठ भाजपा पार्षदों ने भाजपा से इस्तीफा देकर सनसनी फैला दिया है। भाजपा के दिग्गज पार्षद दुर्गा सोनी और रंगानादम,रेणुका नगपुरे समेत  आठ लोगों ने भाजपा की सदस्यता से त्यागपत्र  दे दिया है। मामला बाहर आते ही भाजपा खेमे में सनसनी फैल गयी है। जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत ने बताया कि पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण 18 लोगों पर निगाह रखी जा रही थी। जिसमें दुर्गा सोनी  समेत अन्य 7 भाजपा पार्षदों को पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त पाए गया। सभी के निष्कासन पर पहले ही मोहर लग चुकी हैं। इस्तीफे वाली कोई बात ही नहीं है। क्योंकि सभी को पार्टी से निकाला गया है। अब निष्कासित पार्षद आम आदमी पार्टी में जाए चाहे ,काम आदमी पार्टी में जाएं, उनकी मर्जी है ।भारतीय जनता पार्टी ने ऐसे लोगों से किनारा कर लिया है। इनकी जगह पार्टी नए चेहरों को वार्ड में मौका देगी। इसके लिए प्रदेश प्रभारी मैडम को प्रस्ताव भेजा जा चुका है, मैडम के दस्तखत होते ही सूची जारी हो जाएगी।
 
पार्षदों का किया शोषण..दुर्गा
दुर्गा सोनी ने बताया कि पार्टी के लिए की गई सेवाओं और जनता के  कल्याण के कार्यो  लिए हमेशा वार्ड के लोगों का साथ रहेंगे। जिला अध्यक्ष ने पार्षदों  का शोषण किया है। वार्डों में पार्षदों को चंदा वसूली पर रोक लगा दी गई थी। दारु की दुकान की जगह कांग्रेस भवन नहीं खोलने के लिए दबाव बनाया जा रहा था। जिससे हम अकेले सत्ता दल के नागा साधुओं के चपेट में आ जाते।
 
कुमावत लड़ेंगे चुनाव..?
ऐसे नेताओं के कारण भाजपा वैसे भी जनाधार खो चुकी है। चार  राज्यों की जीत हो या छत्तीसगढ़ में हार हो कुमावत जी स्वयं को लड्डू खिलाने वाली फोटो छपवाते हैं। अंदरखाने की खबर है कि कुमावत खुद अमर भैया की जगह चुनाव लड़ने की फिराक में है। यदि  ऐसा होता है तो हम यहां पर आम आदमी पार्टी की बुनियाद रखेंगे। अगर अमर भैया को फिर से गच्चा देकर रामदेव कुमावत बिलासपुर से विधानसभा चुनाव लड़ते हैं तो उनके खिलाफ अपना विधायक खड़ा करेंगे।
 
चर्चा में विजय पाण्डेय
दूसरी तरफ कांग्रेस के शहर अध्यक्ष विजय पांडे संगठन में इतने लीन हो गए हैं कि उन्हें उनके कर के बराबर मोहन मरकाम की जगह पीसीसी अध्यक्ष बनाए जाने की खबरें दो दिनों चर्चे में है।
 
राष्ट्रपति को लाने की तैयारी
निगम सभापति सबके प्यारे छोटे पार्षद ने निगम के बजट अभिभाषण के लिए राष्ट्रपति को मुख्य अतिथि के रूप में बुलाने बीड़ा उठाया है। ताकि उनके आने पर निगम के माली हालात को सुधारने के लिए केंद्र सरकार तेजी से राशि भेजे।
 
एमआईसी का विस्तार
बताया जा रहा महापौर रामशरण यादव ने एमआईसी का विस्तार करते हुए जेल विभाग का गठन कर दिया है। एमआईसी मेंबर विजय केसरवानी जेल विभाग में सामानों की सप्लाई करेंगे। अधोसंरचना विकास कार्य की निगरानी देखेंगे।
 
मनरेगा रोस्टर में परिवर्तन
एक अन्य मामले में जानकारी मिल रही है कि जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण चौहान ने राज्य सरकार से प्रस्ताव पारित कराया है कि समस्त निजी जमीनों में मनरेगा के मजदूरों को काम दिया जाएगा। रोस्टर  भी लागू नहीं होगा। मजदूरी की दर स्थानीय समिति करेगी। जितनी भी निजी जमीन होगी सड़क बनवाया जाएगा।
 
अविश्वास प्रस्ताव की तैयारी
जानकारी मिल रही है कि जिला पंचायत अध्यक्ष की मनरेगा में एकला चलों की नीति से सदस्यों में खासी नाराजगी है। नाराज सदस्य अब अंकित गौरहा के खेमें में पहुंच गए है। बताते चलें कि जिला पंचायत सभापति अंकित गौराहा की सक्रियता और सादगी पूर्ण कार्यशैली से जिला पंचायत अध्यक्ष खासे परेशान हैं। अरूण चौहान को पूरा विश्वास हो गया है कि अंकित गौरहा अध्यक्ष बनना चाहते हैं। यदि निकट भविष्य में अविश्वास प्रस्ताव लाया जाता है तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी। अन्दरखाने की खबर पर विश्वास करें तो अविश्वास प्रस्ताव बाबा की ताजपोशी की तारीख के एलान तक टाला जा रहा है।अति  विशेष संवाददाता ने बताया कि बुरा ना मानों होली है…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *