Chhattisgarh-सवा सौ से अधिक किसानो ने की आत्महत्या

रायपुर।छत्तीसगढ़ में वित्तीय वर्ष 2020-21 में 4 फरवरी 2021 तक कुल 141 किसानों द्वारा अलग-अलग कारणों से आत्महत्या की गई। यह जानकारी कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने प्रश्न के लिखित उत्तर में दी। प्रश्नकाल में भाजपा सदस्य डमरू धर पुजारी ने जानना चाहा कि प्रदेश में इस वित्तीय वर्ष में 4 फरवरी 2021 तक कितने किसानों द्वारा आत्महत्या की गई?आत्महत्या के क्या कारण है? इसके लिए दोषी कौन था? क्या इन्हें कोई मुआवजा दिया गया? पिछले और इस वित्तीय वर्ष में कुल कितने लोगों ने प्रदेश में आत्महत्या के लिए देश में छत्तीसगढ़ का कौन सा स्थान था? CGWALL NEWS के WhatsApp ग्रुप से जुडने यहाँ क्लिक कीजिये

इसके जवाब में मंत्री चौबे ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 मई 4 फरवरी 2021 तक प्रदेश के कुल 141 किसानों द्वारा विभिन्न कारणों से आत्महत्या की गई. किसान धनी राम मारंगपुरी ,विश्रामपुरी केशकाल की आत्महत्या प्रकरण में अभिलेख दुरुस्ती और फसल गिरदावरी में त्रुटि मिलने पर पटवारी डोंगर नाग को दोषी पाए जाने पर सस्पेंड किया गया. इस अवधि में आत्महत्या करने वाले किसानों को मुआवजा राशि निरंक है. उन्होंने इससे जुड़े सवाल के जवाब में यह भी बताया कि पिछले और इस वित्तीय वर्ष में कुल 13575 लोगों ने प्रदेश में आत्महत्या की है. नेशनल क्राइम ब्यूरो की रिपोर्ट 2019 के अनुसार आत्महत्या में छत्तीसगढ़ का देश में नौवां स्थान है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *