सांसद ने कोरोना की तीसरी लहर के लिए SECL से मांगे दस करोड़ रुपए तो अटल श्रीवास्तव ने कहा-नाखून कटा कर शहीद बनने का काम ना करें अरुण साव

बिलासपुर-सांसद अरुण साव एसईसीएल से 10 करोड़ कोरोना की तीसरी लहर हेतु मांगने पर प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना की पहली लहर और पहले लाकडाउन में सांसद बिलासपुर अरुण साव दिल्ली में थे और वहीं से बयान जारी करते रहे। राज्य सरकार को और अपने संसदीय क्षेत्र में किसी प्रकार की कोई मदद केंद्र सरकार से दिलाने का काम सांसद महोदय ने नहीं किया, दूसरी लहर जब छत्तीसगढ़ बिलासपुर पहुंची राज्य और जिला प्रभावित हुआ, तब भी सांसद अरुण साव की भूमिका मदद करने में नगण्य रही.कोरोना की दवाइयां ऑक्सीजन और तमाम सुविधाएं राज्य सरकार अपने बलबूते पर करती रही।सामाजिक संस्थाओं का योगदान प्राप्त होता रहा, लेकिन केंद्र सरकार ने या बिलासपुर में स्थित केंद्रीय संस्थान एसईसीएल एनटीपीसी एवं रेल जोन ने कोई मदद नहीं की और ना ही केंद्रीय नेताओं से सांसद अरुण साव इन संस्थाओं पर दबाव बनाकर कोई मदद अपने संसदीय क्षेत्र की कर सके और आज जब तीसरी लहार की आशंका चल रही है.

एसईसीएल के अधिकारी से मिलकर मदद मांगने का बयान देकर कोरोना काल में अपनी भूमिका तय करना चाहते हैं। अटल श्रीवास्तव ने सांसद अरुण साव से पूछा कि 7 साल की मोदी सरकार में एसईसीएल बिलासपुर और एनटीपीसी बिलासपुर का अस्पताल भी नहीं खुलवा सके, हजारों करोड़ की कमाई करने वाला यह संस्थान बिलासपुर से पैसा कमा कर सीएसआर मद में दूसरे राज्यो में खर्च कर रहे हैं, सांसद अरुण साव सहित सभी भाजपा के सांसद इस पर मौन है। बिलासपुर स्थित दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन जो प्रतिवर्ष लदान से 23 हजार करोड़ कि आय कमाता आता है उसका एक अपने कर्मचारियों के लिए भी मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल नहीं है बिलासपुर मंडल के समय जो रेलवे अस्पताल था अपग्रेड कर जोन का हॉस्पिटल बना दिया गया है कोविड-19 में रेलवे जोन बिलासपुर में भी किसी प्रकार की कोई मदद संसदीय क्षेत्र बिलासपुर को नहीं की।

अटल श्रीवास्तव ने कहा कि अरुण साव अगर बिलासपुर की जनता की मदद करना चाहते हैं तो सबसे पहले प्रधानमंत्री, केंद्रीय कोयला मंत्री, केंद्रीय रेल मंत्री और केंद्रीय ऊर्जा मंत्री से बात कर तीनों संस्थानों का अपना 100-100 बेड का हॉस्पिटल बनाने की घोषणा करवाएं, 10 करोड़ की सहायता मांग कर नाखून कटाकर कोरोना काल में शहीद बनने का काम माननीय सांसद अरुण साव न करें।अटल श्रीवास्तव ने कहा कि बिलासपुर संसदीय क्षेत्र में केंद्र सरकार से दबाव डालकर टीकाकरण का काम भी अगर सांसद कर देते तो मतदाताओं पर उनका उपकार होता केंद्र की सरकार 18 प्लस के टीकाकरण कार्यक्रम में युवाओं को अकेले छोड़ दिया है.

राज्य की भूपेश सरकार अपने खर्चे से टीका लगाने का कार्य कर रही है तो केंद्र सरकार तरह-तरह के भ्रमित आंकड़े जारी कर टीकाकरण कार्य को अवरुद्ध करने का काम कर रही है, अरुण साव बयान देने के बजाय बिलासपुर संसदीय क्षेत्र की जनता को कोरोना काल में केंद्र सरकार की मदद करवाएं। एसईसीएल एनटीपीसी और रेलवे जोन के सीएसआर मद पैसा पूरा का पूरा संसदीय क्षेत्र बिलासपुर में लगे ना कि केंद्रीय मंत्री मंत्रियों के संसदीय क्षेत्र में।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *