अधिकारियों पर बिफरे सांसद..कहा दलों के दल-दल में ना फंसे..मुझे जिले का विकास चाहिए..बहानेबाजी नहीं चलेगी

मुंगेली—-जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति की बैठक में केन्द्रीय योजनाओं की पेंडेंसी देखकर सांसद अरूण साव अधिकारियों पर जमकर भड़के। अधिकारियों के गोलमोल जवाब से अरूण साव ने इतने नाराज हुए कि उन्हें दो कहना पड़ा कि हितग्राही मूलक कार्यों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों की खैर नहीं। गोलमोल जवाब नहीं हमें जिले का विकास चाहिए।
 
               जिला विकास समन्वय एवं मूल्यांकन समिति की बैठक में सांसद अरूण साव केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं की लंबी पेंडेंसी का ब्यौरा देखकर इतना भड़के कि अधिकारियों को बगले झांकने को मजबूर होना पड़ा। सांसद अरुण साव ने अफसरों को दो टूक कहा कि हमें जिले का विकास चाहिए। गोलमोल जवाब नहीं।  पीएम आवास योजना के क्रियान्वयन में लापरवाही बरतने वाले मुंगेली, लोरमी, पथरिया, सरगांव के सीएमओ और  बैठक से नदारद सभी अफसरों को कारण बताओ नोटिस जारी करने निर्देश दिया।
 
            बैठक के दौरान सवालों का टाल-मटोल भरा जवाब देने वाले अफसरों को सांसद ने यहाँ तक कह दिया कि राजनीति दलों का सत्ता पर आना-जाना चलता रहेगा। अफसर दलों के दलदल में ना फंसें। आप सभी का लक्ष्य सिर्फ जिले का विकास होना चाहिए। लापरवाही बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
 
                         मंगलवार को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में दिशा समिति की बैठक शाम 4 बजे शुरू हुई। बैठक की शुरुआत में ही सांसद  साव ने अफसरों से पूछा कि पिछली बैठक में लिए गए निर्णयों और निर्देशों पर अमल हुआ की नहीं। सभी विभागों के अफसरों ने दिशा की बैठक के लिए अलग फाइल बनाया कि नहीं।मनरेगा व अन्य केन्द्र पोषित योजनाओं से स्वीकृत किए गए विकास कार्यों का लेखा-जोखा प्रस्तुत कर रही जिला पंचायत सीईओ के सामने भी उन्होंने  तीखे तेवर दिखाए। साथ ही स्पष्ट कहा कि केन्द्र सरकार की योजनाओं से जिले में जो भी कार्य चल रहे हैं, उसका संपूर्ण ब्यौरा दें। समय-समय पर इन कार्यों का क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों से अवलोकन भी करावें।
 
                साव ने प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के अंतर्गत चिन्हित किन्हीं 5 गांवों में जनप्रतिनिधियों को विज़िट कराने के निर्देश दिए। प्रधानमंत्री आवास योजना के कार्यों की समीक्षा करते समय नगरीय निकायों में लंबी पेंडेंसी के आकड़े देख सभी सीएमओ  पर बिफर पड़े। उन्होंने फटकार लगाते हुए कहा कि जब पिछली बैठक में निर्देश दिए गए थे कि आवास निर्माण संबंधी पेंडेंसी का दो माह के भीतर निपटारा कर लिया जावे, तो दो की बजाय 4 माह का समय मिलने पर भी पेंडेंसी क्यों दिख रही है। सांसद के तीखे तेवर देख सभी अफसर हड़बड़ा गए। उन्होंने स्पष्ट कहा कि हितग्राहीमूलक कार्यों में लेटलतीफी और अड़ेंगेबाजी वे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेंगे।
 
              बैठक में सवालों का टाल-मटोल भरा जवाब देने वाले विभागों के अफसरों की जमकर क्लास ली।सांसद ने कहा कि बैठक में पूरी जानकारी के साथ आएं। सवालों का गोलमोल जवाब  उन्हें नहीं चाहिए। बैठक में नहीं आने वाले एनएच, एनएचएआई, बीएसएनएल, एटीआर व विद्युत विभाग के अफसर को कारण बताओ नोटिस जारी करने निर्देश दिए।
 
                    बैठक लोरमी विधायक धर्मजीत सिंह ने भी लोरमी क्षेत्र औऱ विधायक प्रतिनिधि निश्चल गुप्ता ने पथरिया क्षेत्र से जुड़े अनेक मुद्दे उठाए। बैठक में कलेक्टर पीएस एल्मा, जिला पंचायत सीईओ नुपुर, एडिशनल एसपी बघेल, नगर पालिका अध्यक्ष संतुलाल सोनकर, उपाध्यक्ष मोहन मल्लाह एवं सभी विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *