हत्या का आरोपी 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार, हरदीबाजार पुलिस की कार्रवाई

कोरबा।हत्या के आरोपी को 24 घण्टे के भीतर गिरफ्तार करने में हरदीबाजार पुलिस को सफलता मिली है।आरोपी के कब्जे से घटना में प्रयुक्त आलाजरब भी जब्त किया गया है। आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड में भेजा गया।मिली जानकारी अनुसार 14 सितम्बर को सूचक मनीश कुमार राठौर पिता स्व. नेहरू लाल राठौर उम्र 37 वर्ष साकिन उतरदा ने चौकी उपस्थित आकर मर्ग इंटीमेशन दर्ज कराया कि इसकी मॉ कला बाई राठौर उम्र 60 वर्ष साकिन धतुरा अपने मकान में अकेले रहती थी।

सूचक 14 सितम्बर को लगभग 17ः00 बजे अपनी मॉ के घर पहुंचकर दरवाजा खटखटाया किंतु इसकी मॉ के दरवाजा नही खोलने पर पीछे के रास्ते से घर के अंदर प्रवेश कर देखा तो इसकी मॉ का शव बिस्तर पर पड़ा हुआ था सिर में चोट का निशान था। प्रार्थी की रिपोर्ट पर मर्ग क्रमांक 115/2022 धारा 174 जा.फौ कायम कर जॉच कार्यवाही में लिया गया और घटना के संबंध में एसपी कोरबा संतोष सिंह,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कोरबा अभिषेक वर्मा,नगर पुलिस अधीक्षक दर्री लितेश सिंह को अवगत कराने पर प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए त्वरित कार्यवाही करते हुए आरोपी की गिरफ्तारी करने हेतु निर्देशित किया गया।

वरिष्ठ अधिकारियों के कुशल मार्गदर्शन में मर्ग जॉच के दौरान यह तथ्य प्रकाश में आया कि मृतिका के पड़ोस में रहने वाला पवन कुमार कौशिक पूर्व में दो बार रात्रि के समय मृतिका को अकेले पाकर घर में चोरी करने की नियत से घूसा था कि किंतु मृतिका के जागकर शोर मचाने पर वह भाग गया था जिस संबंध में मोहल्ले वालों द्वारा पंचायत बैठाकर पवन कुमार को समझाईश दी गई थी।

13 सितम्बर की रात्रि आरोपी पवन कुमार को मृतिका के घर के बगल के खण्डहर वाले रास्ते से निकलते देखा गया था। पंचानों व गवाहानों के कथन के आधार पर पवन कुमार कौशिक को घेराबंदी कर पकड़कर कर पूछताछ करने पर शुरूवात में घटना करने से इंकार करता रहा किंतु आरोपी से सख्ती से पूछताछ करने पर जुर्म करना स्वीकार किया।

आरोपी ने मेमोरेण्डम कथन में बताया कि 13 सितम्बर की रात्रि में कला बाई को अकेली पाकर कला बाई के घर में घूसकर चोरी करने का प्रयास कर रहा था तभी मृतिका कला बाई जाग गई तो कला बाई का मुंह दबाकर उसे बिस्तर पर गिराकर बिस्तर के पास पड़े सिलबट्टा के लोढ़ा से कला बाई के सिर, माथा पर वार करने पर कला बाई की मृत्यु होना बताया।

आरोपी पवन कुमाार कौषिक पिता स्व. गोविंदराम कौषिक की निशादेही पर आरोपी के कब्जे से घटना में प्रयुक्त सिलबट्टा का लोढ़ा तथा घटना के समय पहने गए कपड़े जपत किये गए है जिससे आरोपी पवन कुमार कौषिक का कृत्य धारा सदर का अपराध घटित करना सबूत पाये जाने से 15 सितम्बर को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेजा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.