नारायणपुर-मुख्यमंत्री गौरव अलंकरण समारोह,जीवन में गुरू ही है,जो ईश्वर तक पहुंचने का मार्ग बताते हैं-विधायक चंदन कश्यप

नारायणपुर।जिला मुख्यालय नारायणपुर के इंडोर स्टेडियम में मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण समारोह का आयोजन आज संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि हस्तशिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक चंदन कश्यप थे। इस अवसर पर उन्होंने डॉ सर्वपल्ली राधाकृश्णन के जीवन पर प्रकाश डालते हुए उनके संघर्श के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यह दिन शिक्षकों और बच्चों के बीच बंधन का सम्मान करने के लिए मनाया जाता है, जो उनके जीवन को कई तरह से प्रभावित करते हैं। उन्होंने कहा कि हमारे जीवन में गुरू ही है, जो ईश्वर तक पहुंचने का मार्ग बताते हैं।

विधायक श्री कश्यप ने कहा कि शिक्षकों की सेवा में आने वाली सभी प्रकार की परेशानियों का षीघ्र निराकरण किया जायेगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ष्यामबती नेताम ने उन्होंने उपस्थित सभी लोगों को शिक्षक दिवस की बधाई देतें हुए कहा कि बिना गुरू के ज्ञान संभव नहीं है। इसलिए सभी छात्रों को अपने गुरूजनों का सम्मान करना चाहिए। शिक्षक हमारे मार्गदर्शक होते है, जो हमें अज्ञानता जैसे अंधकार से निकालकर ज्ञानरूपी प्रकाश की ओर लाते हैं।

कार्यक्रम में जिला पंचायत उपाध्यक्ष देवनाथ उसेण्डी, नगर पालिका उपाध्यक्ष प्रमोद नेलवाल, जनपद पचंायत नारायणपुर अध्यक्ष पंडीराम वड्डे, के अलावा क्षेत्र के जनप्रतिनिधि, एसडीएम दिनेश कुमार नाग, जिला शिक्षा अधिकारी जीआर मंडावी, बीईओ नारायणपुर खेमेश्वर पाणिग्रही के अलावा शिक्षक-शिक्षिकायें एवं बच्चे उपस्थित थे।जिले में आयोजित मुख्यमंत्री शिक्षा गौरव अलंकरण पुरस्कार कार्यक्रम में विकासखंड स्तर पर शिक्षादूत पुरस्कार प्राप्त करने वाले शिक्षकों में नारायणपुर विकासखंड के ग्राम गढ़बेंगाल की रंजीता नाग, नारायणपुर की श्रीमती राधा धुतलहरे और कविता हिरवानी और ओरछा विकासखंड के ग्राम जबगुण्डा के बन्नूराम पट्टावी, कुरूशनार की श्रीमती भाग्यलता पात्र. और ओरछा की राजकुमारी नेताम षामिल है।

इसी प्रकार ज्ञानदीप पुरस्कार हेतु नेलवाड़ के शिक्षक कन्हैया देवांगन, और ओरछा विकासखंड के शिक्षक संतोष कुमार पात्र तथा गारपा के शिक्षक नोकूलराम नेताम षामिल है। इन शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र एवं नकद राशि प्रदान की गयी। कार्यक्रम के दौरान विधायक श्री चंदन कश्यप सहित अन्य अतिथियों ने जिले के दिव्यांग बच्चों सरिता कोर्राम और तुलसीराम को कैलिपर षूज, यामबत्ती को कैलीपर षूज एवं टायसिकल,सदीप मानिकपुरी को श्रवण यंत्र, नितेश कुमार को वाकर और इलेक्ट्रानिक ट्रायसायकिल और तिलक, सुखचंद सोमनाथ को आर्थोपेडिक स्टीक प्रदान किया। इस दौरान अतिथियों ने जिले के सेवानिवृत्त शिक्षकों का सम्मान करते हुए उन्हें षॉल, श्रीफल और स्मृति चिन्ह प्रदान किया। कार्यक्रम को नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमती सुनीता मांझी, संगठन पदाधिकारी रजनू नेताम, शिवकुमार पाण्डेय, एसडीएम दिनेश कुमार नाग सहित अन्य वक्ताओं ने संबोधित किया और जीवन में गुरू की महत्ता पर प्रकाश डाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *