Nautapa 2024- नौतपा में करें हल्दी से जुड़े उपाय

Nautapa 2024, Nautapa 2024 Upay: हिंदू पंचांग के अनुसार जब सूर्य रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करते हैं तो उस दौरान भयंकर गर्मी पड़ती है. वैसे तो सूर्य रोहिणी नक्षत्र में 15 दिन रहते हैं लेकिन शुरू के 9 दिन सबसे भीषण गर्मी पड़ती है जिसकी वजह से इन नौ दिनों को नौतपा कहते हैं. नौतपा के 9 दिन कुछ ज्योतिष उपाय करने से व्यक्ति के जीवन में आ रही कुछ समस्याएं भी दूर हो सकती हैं.

Join Our WhatsApp Group Join Now

Nautapa 2024, Nautapa 2024 Upay: हिंदू धर्म में नौतपा का समय बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है, क्योंकि इस दौरान आदित्यनाथ सूर्यदेव की पूजा का विधान है. जो व्यक्ति नौतपा में सूर्यदेव की पूजा विधि-विधान और पूरी श्रद्धा से करता हैं उसे समाज में मान-सम्मान मिलता है. साथ ही कार्यक्षेत्र में पदोन्नति होती है. पंचांग के अनुसार, नौतपा की शुरुआत 25 मई से हो चुकी है है जिसकी समाप्ति 9 दिन बाद यानी 2 जून को होगी.

Nautapa 2024, Nautapa 2024 Upay: नौतपा के 9 दिनों को साल भर में सबसे गर्म दिन माना जाता है. इस दौरान सूर्य देव को अर्घ्य देने का विशेष महत्व बताया गया है. तो आइए जानते हैं कि नौतपा के दौरान सूर्यदेव को अर्घ्य देने का शुभ समय क्या है और साथ ही अर्घ्य देने का मंत्र क्या है. इसके अलावा, आपको हल्दी से जुड़े 3 सरल उपाय बताते हैं जिन्हें अपनाने से आप हर काम में सफलता पा सकते हैं.

नौतपा में करें हल्दी से जुड़े उपाय

1. सूर्यदेव को हल्दी से दें अर्घ्य

ऐसी मान्यता है कि जो व्यक्ति नौतपा में सूर्यदेव को तांबे या पीतल के कलश में हल्दी, कुमकुम, अक्षत, मिश्री और लाल फूल मिलाकर जल अर्घ्य देता है, तो उसकी कुंडली में अशुभ ग्रहों का प्रभाव कम होता है. साथ ही उस व्यक्ति को मान सम्मान प्राप्त होता है. ऐसा करने से उसके रोग दोष दूर होने लगते हैं और धन-धान्य की प्राप्ति होती है.

2. हल्दी का तिलक

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार अगर कोई भी व्यक्ति नौतपा में हल्दी का तिलक लगाता है तो उसे मानसिक शांति मिलती है. इसके अलावा, उसकी कुंडली में ग्रहों की स्थिति अनुकूल होने लगती है और उसके बिगड़े काम बनने लगते हैं. नौतपा में नहाने के बाद रोजाना हल्दी का तिलक लगाएं.

3. शिवलिंग पर लगाएं हल्दी का लेप

नौतपा में शिवलिंग पर हल्दी का लेप लगाना बेहद शुभ माना जाता है. मान्यता है कि ऐसा करने से आपके रुके हुए काम पूरे हो सकते हैं. साथ ही आपको हर काम में सफलता प्राप्त होती है, क्योंकि हल्दी भगवान शिव का प्रिय रंग है. ऐसे में शिवलिंग पर हल्दी का लेप लगाने से भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं.

नौतपा में सूर्यदेव को अर्घ्य देने का समय

वैदिक पंचांग के अनुसार, सूर्य देव को अर्घ्य देना बहुत ही शुभ और महत्वपूर्ण माना जाता है. ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक सूर्यदेव को अर्घ्य देने का सबसे सही समय सूर्योदय का माना गया है. पंचांग के अनुसार, अर्घ्य देने का शुभ मुहूर्त सुबह 6 बजकर 15 मिनट से लेकर सुबह 6 बजकर 45 मिनट तक है. इस शुभ समय में सूर्य देव को जल अर्घ्य दे सकते हैं.

सूर्य देव को अर्घ्य देने का मंत्र

ॐ आदित्याय नम:

सहस्त्ररश्मि: शतधा वर्तमान: पुर: प्रजानामुदत्येष सूर्य:।

विश्वरूपं घृणिनं जातवेदसं हिरण्मयं ज्योतीरूपं तपन्तम्।

ऊँ नमो भगवते श्रीसूर्यायादित्याक्षितेजसे हो वाहिनि वाहिनि स्वाहेति।

                   

Shri Mi

पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
Back to top button
close