बीजापुर मुठभेड़ मे तीन से चार ट्रैक्टरों में साथियों की डेड बॉडी ले गए नक्सली,एक महिला नक्सली का शव बरामद

बीजापुर/जगदलपुर।बीजापुर मुठभेड़ में अब तक कुल 22 जवानों की बॉडी रिकवर की गई है, वहीं 1 जवान मिसिंग है. घायलों की स्थिति अभी सामान्य है. घायल जवानों में से 13 जवानों का इलाज रायपुर में हो रहा है, वहीं 18 घायल जवानों का इलाज बीजापुर में चल रही है. वहीं 12 नक्सलियों को मार गिराया गया है, और 16 नक्सली गंभीर रूप से घायल है. 3 से 4 ट्रेक्टर में नक्सलियों की डेडबॉडी ले जाते देखा गया है. यह बात जानकारी बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने दी.आईजी सुंदरराज ने बताया कि जवानों के पास से कुल 10 हथियार लूटा गया है, जिसमें सात Ak47, दो SLR, 1 LMG लूटा गया है. उन्होंने बताया कि जवान राकेश्वर मिसिंग है, जो कोबरा का जवान है. उन्होंने बताया कि जिन इलाके में फोर्स गई थी, वो नक्सलियों का कोर इलाका माना जाता है, वो इलाका चुनौतीपूर्ण रहा है. इन इलाकों में जब भी जवान जाते हैं, तगड़ा मुठभेड़ होता है.

हमारे 22 जवान शहीद होना दुर्भाग्यपूर्ण है. आने वाले समय में भी हम पीछे नहीं हटेंगे, फिर उस क्षेत्र में जाएंगे और मुंह तोड़ जवाब देंगे. आईजी ने बताया कि इस मुठभेड़ में नक्सली के प्लाटून नम्बर 1 से जवानों की मुठभेड़ हुई थी. इस मुठभेड़ में नक्सलियों की कमान हिड़मा संभालता है. हम जब भी उस इलाके में जाते हैं, लड़ाई बराबर की होती है. अभी भी जवान उस इलाके में जाने को तैयार हैं. जवानों के हौसले बुलंद है. अभी भी फोर्स अंदर है, सर्चिंग जारी है.

3 अप्रैल को जिला बीजापुर और सुकमा के सीमावर्ती क्षेत्र के अंतर्गत थाना ट्र्रेम, जिला बीजापुर के गुंडम,टेकलागुडं, जोना गुड़ाम, टेकला गुडम के जंगल क्षेत्र में माओवादियों की बटालियन नंबर 1 के माओवादियों की उपस्थिति की सूचना पर जिला बीजापुर की डीआरजी, एसटीएफ कोबरा और सीआरपीएफ की संयुक्त बल नक्सल विरोधी अभियान के लिए रवाना की गई थी। नक्सलियों को उनके कोर एरिया में खदेड़ने के लिए थाना ट्र्रेम से भेजे गए संयुक्त बल के अलावा उसूर, पामेड़ ,मीनपा, और नरसापुरम बेस कैंप से भी कोर एरिया के अलग अलग टारगेट के लिए बल रवाना किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *