लाॅकडाउन में रुकें जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र के 432 आवेदन का दो दिन में ही किया गया निराकरण,लंबित प्रकरण को निपटाने बिलासपुर निगमायुक्त ने बनाई थी टीम

बिलासपुर- लाॅकडाउन अवधि में जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए आए 432 आवेदनों का निगम ने मिशन मोड पर काम करते हुए दो दिन के भीतर ही निराकरण कर दिया। विदित है 14 अप्रैल से लाॅकडाउन लगने के कारण सभी शासकीय कार्यालयों में सामान्य कामकाज बंद थे,जिसमें नगर निगम का संबधित विभाग भी शामिल था।उस दौरान निगम के पास जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए 432 आवेदन पहुंचे. लाॅकडाउन खुलने के बाद कमिश्नर श्री अजय त्रिपाठी ने लोगों को त्वरित राहत देने के लिए उपायुक्त श्री खजांची कुम्हार के नेतृत्व में छः अधिकारी-कर्मचारियों की टीम बनाते हुए लंबित प्रकरणों का दो दिन के भीतर सत्यापन कर निराकरण के निर्देश दिए थे। जिसके बाद टीम द्वारा 3 और 4 जून को सभी 432 प्रकरणों के सत्यापन करते हुए रिकार्ड समय में निराकरण कर प्रमाण-पत्र जारी किया।

लाॅकडाउन और सत्यापन की वजह से लंबित था
लाॅकडाउन के खुलने के बाद निगम के सभी विभागों में  कामकाज शुरू हुआ. जिसके बाद सत्यापन का कार्य शुरू किया गया,चूंकि प्राप्त आवेदन के सत्यापन में भी समय लगता है, अस्पताल से सूचना मैनुअल आता है जिसका अलग-अलग सत्यापन किया जाता है,बिना सत्यापन के प्रमाण-पत्र जारी नहीं किया जा सकता। मृत्यु प्रमाण पत्र एक विधिक दस्तावेज है जिसकी एक प्रक्रिया के तहत छानबीन के पश्चात प्रमाण पत्र जारी करना होता है। इस प्रक्रिया को शीघ्र पूरा कराने के लिए कमिश्नर श्री त्रिपाठी ने टीम को काम पर लगाया था। इसके अलावा कई त्रुटिपूर्ण आवेदन भी प्राप्त हुए थे जिसके कारण प्रकरण लंबित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *