VIDEO-Ashok Gehlot का आरोप,सरकार गिराने की कोशिश में गजेंद्र शेखावत के साथ मिले हुए थे सचिन पायलट

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot) की अदावत एक बार फिर सामने आ गई है. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता गजेंद्र सिंह शेखावत (Gajendra Singh Shekhawat) की कथित ऑडियो क्लिप का जिक्र करते हुए अशोक गहलोत ने कहा है कि शेखावत ने स्वीकार किया है कि उनकी आवाज है. गहलोत ने कहा है कि गजेंद्र शेखावत की बात से यह साफ है कि सरकार गिराने की कोशिश में उनके साथ सचिन पायलट भी मिले हुए हैं लेकिन पायलट ने थोड़ी सी चूक कर दी थी.

आपको बता दें कि एक ऑडियो क्लिप वायरल हुआ था. आरोप लगे थे कि इस क्लिप में गजेंद्र सिंह शेखावत एक शख्स से बात कर रहे हैं. कांग्रेस और अशोक गहलोत ने कहा था कि शेखावत राजस्थान की सरकार को गिराने के लिए खरीद-फरोख्त कर रहे हैं. हालांकि, उस समय अशोक गहलोत ने अपनी सरकार बचा ली थी और सचिन पायलट गुट को किनारे लगा दिया था.

‘शेखावत को आवाज देने में दिक्कत क्या है’
गजेंद्र सिंह शेखावत को नोटिस जारी किए जाने के मुद्दे पर बीजेपी आरोप लगा रही है कि कांग्रेस सरकार संस्थाओं का दुरुपयोग हो रहा है. इन आरोपों पर अशोक गहलोत ने कहा, ‘कानून अपना काम करेगा लेकिन उनको तो नोटिस देरी से दिया गया. वह लंबे समय तक बचते रहे. आखिर में उन्हें नोटिस जारी हो ही गया है. इनको अपनी आवाज देने में दिक्कत क्या है आखिर?’

अशोक गहलोत ने आगे कहा, ‘इन्होंने तो दिल्ली की की कोर्ट में स्वीकार भी किया है कि वह उनकी आवाज है. पुलिस भी एफिडेविट में स्वीकार कर चुकी है. उल्टा चोर कोतवाल को डांटे वाला हाल है. आप सरकार गिराने में मुख्य किरदार थे. जब आपका ऑडियो क्लिप आ गया तो आप एक्सपोज हो गए. यह तो सबको मालूम है कि वह आपकी ही आवाज थी.’

साल 2020 में हुई थी सरकार गिराने की कोशिश
गहलोत ने आगे कहा, ‘आपने सरकार गिराने का षड्यंत्र किया. अब आप सचिन पायलट का नाम ले रहे हो कि उन्होंने चूक कर दी. इससे तो आपने ठप्पा ही लगा दिया कि आप उनके साथ सरकार गिराने की कोशिश में शामिल थे.’ बता दें कि यह मामला साल 2020 का है जब सचिन पायलट गुट ने कांग्रेस सरकार से बगावत कर दी थी.

इस घटना के बाद सचिन पायलट को डिप्टी सीएम पद से हटा दिया गया था और उनके मंत्रालय भी वापस ले लिए गए थे. उनके करीबी मंत्रियों को भी बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था. हालांकि, सचिन पायलट कांग्रेस छोड़कर नहीं गए और अशोक गहलोत की सरकार बच गई. इसी मामले में गजेंद्र सिंह शेखावत का ऑडियो वायरल हुआ था जिसकी जांच अभी भी चल रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *