बाज़ारों को व्यवस्थित करने चौबीस घंटे तैनात है बिलासपुर नगर निगम,अब तक जुर्माने के तौर पर डेढ़ लाख से ज्यादा की वसूली भी

बिलासपुर-नगर पालिक निगम बिलासपुर की अतिक्रमण और बाज़ार विभाग की टीम पुलिस विभाग के साथ जिला प्रशासन के निर्देश पर इस कोरोना संकट में शहरवासियों को सुरक्षित रखने चौबीस घंटे आठों प्रहर मैदान पर डटी हुई है। दिन में व्यापारियों द्वारा गलत तरीके से बाज़ार लगाने पर उसे हटाने तो रात में 11 से सुबह 7 बजे तक व्यापार विहार थोक मंडी में व्यापारियों को सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराने में जुटी हुई है। लाॅकडाउन और कोविड प्रोटोकॉल का पालन नहीं करने पर अब तक 1 लाख 59 हज़ार 2 सौ रूपये जुर्माने के तौर पर वसूला भी गया है। एक तरफ़ जहां कोरोना के प्रकोप से बचने लोग अपने घरों में कैद है तो दूसरी तरफ़ शहरवासियों को कोई समस्या ना हों और उन्हें सुरक्षित तरीके से सुविधा मिल सके इसके लिए निगम की टीम बाहर है। पिछले एक महीने में जब से कोरोना के दूसरे लहर ने अपना प्रभाव दिखाना शुरू किया है तब से निगम बाज़ार में व्यापारियों और लोगों को सोशल डिस्टेसिंग का पालन करा रहा है।उसके बाद 14 अप्रैल से जिले में जारी लाॅकडाउन का पालन कराने के लिए निगम द्वारा लोगों और व्यापारियों को लगातार समझाइश दिया जा रहा है।

सुबह 6 बजे से निकलता है अमला
रोज़ाना सुबह 6 बजे निगम का अमला कई हिस्सों में बंटकर शहर के अलग-अलग स्थानों के लिए निकलते हैं जहां जाकर गैर कानूनी तरीके से लगाएं जा रहें बाज़ारों को हटाने,व्यापारियों को समझाइश देने के साथ ही लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित कर रहें हैं। सुबह से रात तक टीम शहर में भ्रमण कर लाॅकडाउन का पालन कराने में जुटी रहती है। इस कार्य के लिए निगम के उपायुक्त श्री दिलीप तिवारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

रात भर व्यापार विहार में रहती है टीम
लाॅकडाउन बढ़ने के साथ लोगों को दैनिक ज़रूरत के सामानों के लिए समस्या का सामना ना करना पड़े,इसके लिए प्रशासन ने रात 11 बजे से सुबह 7 बजे तक थोक व्यापार की अनुमति दी है। थोक मंडी में भी कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन ना हो इसके लिए निगम की एक टीम रात 11 से सुबह 7 बजे तक थोक मंडी में रहकर व्यापारियों को सोशल डिस्टेसिंग का पालन करा रही है।

आदेश नहीं मानने वालों से 159000 की वसूली 
जिला प्रशासन द्वारा किराना व्यावसायियों को सिर्फ़ होम डिलीवरी करने की अनुमति दी गई है,उसके बावजूद कई दुकानदार खुद की और दूसरों की भी जान से खिलवाड़ करते हुए दुकानें खोल दें रहें हैं।उनके साथ ही बिना मास्क और होटलों के खिलाफ़ कार्रवाई करते हुए निगम ने कुल 718 प्रकरण में जुर्माने के तौर पर 1 लाख 59 हज़ार 2 सौ रूपये वसूल किया है।

लोगों को सुरक्षित रखने का प्रयास है-कमिश्नर 
कमिश्नर अजय त्रिपाठी ने कहा की लोगों को और व्यापारियों को समझाइश तथा कार्रवाई करने का उद्देश्य ही सभी को इस महामारी से सुरक्षित रखना है। इस काम के लिए हमारी टीम चौबीस घंटे मैदान में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *