बृहस्पत-सिंहदेव विवाद मामला: CM बघेल ने बुलाई मंत्री परिषद की आपात बैठक, CM हाउस पहुंचे मंत्री और विधायक, TS के मसले पर होगी चर्चा

रायपुर।छत्तीसगढ़ में सियासी घमासान मचा हुआ है. प्रदेश की राजनीति में मानो अचानक तूफान सा आ गया है. विधायक बृहस्पत सिंह और स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव विवाद मामले में बिखराव सा दिखने लगा है. मंत्री सिंहदेव की नाराजगी अब साफ बाहर आने लगी है. वहीं बैठकों का सिलसिला भी थमने का नाम नहीं ले रहा है. एक बार फिर से सीएम हाउस में मीटिंग फिक्स की गई है. कांग्रेस में उपजे विवाद से बिखराव को समेटने के लिए बैठक की जा रही है. मीटिंग में शामिल होने के लिए 19 से ज्यादा विधायक CM हाउस में दाखिल हो गए हैं.मिली जानकारी के मुख्यमंत्री निवास में मंत्री परिषद की आपात बैठक बुलाई गई है.

बैठक में शामिल होने के लिए मंत्री मो. अकबर, गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, मंत्री रुद्र गुरु, मंत्री जयसिंह अग्रवाल सहित कई मंत्री पहुंचे हैं. साथ ही एक साथ CM हाउस में करीब 19 विधायक पहुंचे हैं. थोड़ी देर में मंत्रियों के साथ बैठक होगी. मंत्री TS सिंहदेव के मसले पर चर्चा होगी, लेकिन TS सिंहदेव बैठक में शामिल नहीं होंगे.

प्रदेश सरकार के मंत्री टी एस सिंहदेव और कांग्रेसी विधायक बृहस्पत सिंह के बीच विवाद को लेकर हलचल बनी हुई है । इस मामले को लेकर मंत्री टी एस सिंह देव और अन्य मंत्रियों के बीच चल रही बातचीत खत्म हो गई है । मीटिंग से बाहर आए टी एस सिंहदेव ने कहा कि मामला भविष्य के गर्भ में है।
खबर मिली है कि इस विवाद को लेकर छत्तीसगढ़ विधानसभा परिसर के कक्ष में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और अन्य मंत्रियों के साथ टी एस सिंहदेव के बीच 100 मिनट की बातचीत हुई। बातचीत खत्म कर बाहर आए टी एस सिंह देव ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि मामला अभी भविष्य के गर्भ में है।

उन्होंने यह भी कहा कि वे अपने बयान पर अब भी कायम है। मीटिंग से बाहर आने के बाद टी एस सिंह देव की बॉडी लैंग्वेज को देखते हुए लोगों का मानना है कि उनकी नाराजगी अब भी बरकरार है। इसे देखते हुए माना जा रहा है कि बुधवार को विधानसभा में गतिविधियां और तेज हो सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *