इंडिया वाल

शिक्षकों के लिए गुड न्यूज़, DPI ने जारी किया आदेश, मिलेगी नवीन नियुक्ति

मध्य प्रदेश के हजारों शिक्षकों (MP Teachers) के लिए अच्छी खबर है। सरकार की एक बार फिर से उन पर भरोसा जताया है। वहीं उनकी योग्यता को ध्यान में रखते हुए उन्हें नवीन पदों पर जाएंगे। इसके लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं। जिनमें शिक्षकों की नियुक्ति (teachers appointment)  और नवीन व्यवस्था से संबंधित दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।दरअसल प्रदेश के 70000 अतिथि शिक्षकों के लिए अच्छी खबर है सरकार ने उनकी योग्यता पर भरोसा जताते हुए उन्हें सीएम राइज स्कूल की कमान सौंपने का फैसला किया है। उन्हें डिप्टी प्रिंसिपल के पद पर पदस्थ अपना दी जाएगी। इस संबंध में लोक शिक्षण संचालनालय की तरफ से आदेश जारी किए गए हैं।

7 सितंबर को जारी किए गए आदेश में लोक शिक्षण संचालनालय के कमिश्नर अभय वर्मा ने कहा कि प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारी विकासखंड अधिकारी संकुल प्राचार्य और हाई स्कूल से हाई और सेकेंडरी स्कूल के प्रिंसिपल को सीएम राइज स्कूलों में नीति संबंधी नवीन व्यवस्था के बारे में जानकारी दी गई है।

दिशा निर्देश के तहत कंडिका 1.5 के अनुसार विद्यालय में नियमित शिक्षकों के अवकाश प्रशिक्षण इत्यादि के कारण नियमित शिक्षकों की अनुपस्थिति चल रही है। वहीं उनकी अनुपस्थिति अभी हेतु अतिथि शिक्षकों को आमंत्रित करने के निर्देश दिए गए हैं। वहीं विद्यालय में अध्यापन व्यवस्था को सुचारू रूप से संचालित किया जा सकेगा।

आदेश जारी करते हुए कहा गया कि अतिथि शिक्षकों के लिए नवीन व्यवस्था शार्ट वैकेंसी अपडेट करने के बाद की जाएगी इसके लिए तीन चरणों को आधार माना गया है।

Urvashi Rautela Video- उर्वशी रौतेला के बारे में पूछे जाने पर पाकिस्तानी पेसर नसीम शाह ने दिया चौंकाने वाला जवाब
  • आदेश के तहत हायर सेकेंडरी स्कूलों में प्रभार संभाल रहे उच्च माध्यमिक शिक्षक व्याख्याता के विषय पर अतिथि शिक्षकों की व्यवस्था की जा सकेगी।
  • इसके अलावा एक परिसर एक शाला हाई स्कूल में कक्षा 1 से 10 वीं, कक्षा 6 से 10 वीं में प्रभार संभाल रहे उच्च माध्यमिक शिक्षक, उच्च श्रेणी शिक्षक माध्यमिक शिक्षा के विषय पर अतिथि शिक्षक की व्यवस्था की जा सकेगी।
  • वहीं सीएम राइज स्कूल के उप प्राचार्य का पद संभाल रहे व्याख्याता, उच्च माध्यमिक शिक्षक के विषय पर अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति की जा सकेगी।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS