महिलाओं से जुड़े अपराधों पर तत्काल होगी गिरफ्तारी,आईजी रतनलाल डांगी ने ली अफसरों की वर्चुअल मीटिंग

बिलासपुर।मंगलवार को बिलासपुर के पुलिस महानिरीक्षक रतनलाल डांगी ने रेंज के अंतर्गत जिला जांजगीर चांपा के महिला संबंधी गंभीर अपराध जिनमे आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है।ऐसे मामलों की समीक्षा के लिए साथ ही इन अपराधों में पीड़ितों को पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना के अंतर्गत क्षतिपूर्ति राशि प्रदान किए जाने के संबंध में एसपी और राजपत्रित पुलिस अधिकारियों तथा विवेचको की वर्चुअल अपराध समीक्षा बैठक ली।

अपराध समीक्षा के दौरान थाना जांजगीर के एक प्रकरण में पीड़िता के द्वारा बताया गया कि उसे आरोपी के परिजन द्वारा केस वापस लेने के लिए मोबाइल फोन पर धमकी दी जा रही है। इस पर पीड़िता से आवेदन लेकर संबंधित के खिलाफ वैधानिक कार्रवाई करने के लिए पुलिस अधीक्षक जांजगीर चांपा को निर्देशित किया.

थाना शिवरीनारायण के एक प्रकरण कि पीड़िता के द्वारा बताया गया कि उसको आरोपी के रिश्तेदार सहायक उपनिरीक्षक के द्वारा समझौते के लिए दबाव बनाया गया है। इस पर पुलिस अधीक्षक को संबंधित सहायक उप निरीक्षक का स्पष्टीकरण लेकर अविलंब नियमानुसार कार्रवाई करने और उसे तत्काल थाना शिवरीनारायण से अन्यत्र स्थानांतरित किए जाने निर्देश दिया गया।

साथ ही थाना हसौद के एक मामले में पीड़ित ने बताया कि आरोपी का पिता उसे डरा धमका रहा है। इस पर पुलिस अधीक्षक को पीड़िता का आवेदन लेकर नियमानुसार कार्रवाई करते निर्देशित किया गया। समीक्षा बैठक में पुलिस अधीक्षक जिला जांजगीर चांपा के द्वारा बताया गया कि 1 मई 2022 से 30 मई तक महिला संबंधी अपराधों के कुल 41 मामलों में 46 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है और शेष मामलों की समीक्षा कर आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की अलग-अलग टीमें बनाकर अलग-अलग जगहों पर भेजा गया है।

IG ने जिला जांजगीर चांपा द्वारा की गई कार्रवाई की सराहना करते हुए अन्य मामलों में भी आरोपियों की गिरफ्तारी कराया जाकर जल्दी प्रकरणों का वैधानिक निराकरण दिए जाने निर्देशित किया। एसपी जिला जांजगीर चांपा को पीड़ितों की सभी समस्याओं का संवेदनशीलता के साथ तत्काल निराकरण करने निर्देशित किया गया।

समीक्षा में पाया गया कि जिले के 4 थाने बिर्रा, पामगढ़, चंद्रपुर और सारागांव में महिला संबंधी कोई अपराध नहीं है। इसी प्रकार थाना जांजगीर में 6 मामलों में 10 आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है। उक्त चारों थाना प्रभारियों को पुलिस महा निरीक्षक द्वारा रेंज स्तर पर पुरस्कृत किया जाएगा और जिले में महिला संबंधी अपराधों में पिछले 1 महीने में की गई आरोपियों की गिरफ्तारी में योगदान के लिए संबंधित पुलिस अधिकारी कर्मचारियों को जिला स्तर पर पुरस्कृत किए जाने जांजगीर-चांपा के एसपी को निर्देश दिया गया है।

समीक्षा बैठक में पुलिस अधीक्षक जांजगीर-चांपा विजय अग्रवाल और जिले के राजपत्रित अधिकारी और संबंधित प्रकरणों के विवेचक गण समेत रेंज कार्यालय बिलासपुर में पदस्थ राजपत्रित अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *