RAS Exam Controversy: शिक्षा मंत्री के रिश्तेदारों को टॉपर से ज्यादा नंबर मिलने को BJP ने बताया ‘चमत्कार’, कहा- मामले की हो जांच

जयपुर।राजस्थान प्रशासनिक सेवा परीक्षा यानी आरएएस (RAS Exam) में शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) के दो रिश्तेदारों के चयन पर बवाल मचा है. डोटासरा के दोनों रिश्तेदारों के इंटरव्यू में 100 में से 80 अंक मिले हैं. जबकि इस एक्जाम की टॉपर को इंटर्व्यू में मात्र 77 अंक मिले. जिसके बाद बीजेपी ने मामले में मंत्री की भूमिका पर सवाल खड़े किए हैं और मामले की जांच की मागं की है.

ये परीक्षा नतीजों से पहले से ही विवादों में आ गई थी. एंटी करप्सन ब्यूरो ने नतीजों से पहले इस परीक्षा मे इंटरव्यू में अच्छे नंबर दिलाने के नाम पर 23 लाख की घूस के मामले का भंडाफोड़ किया है. अब हाल ही में परीक्षा के नतीजे घोषित किए गए. एग्जाम में राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के दो रिश्तेदारों का भी चयन हुआ. डोटासरा की बहु प्रतिभा के भाई गौरव और बहन प्रभा का भी चयन हुआ. गौरव और प्रभा के इंटर्व्यू में 100 मे से 80- 80 अंक आए. ये इंटर्व्यू में सबसे अधिक अंक पाने वालों की लिस्ट में हैं. जिसपर अब बीजेपी ने सवाल उठाया है.

डोटासरा के रिश्तेदारों को एग्जाम की टॉपर से मिले ज्यादा नंबर

नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया का कहना है कि हैरानी है कि इस परीक्षा में टॉपर रही मुक्ता राव को इंटरव्यू में इनसे कम यानी 77 अंक ही मिले. राजस्थान बीजेपी अध्यक्ष सतीश पूनियां ने इसे चमत्कार बताते मामले की जांच कराने की मांग की है. वहीं रिश्तेदारों को ज्यादा अंक मिलने पर घिरे मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने मामले में सफाई दी है. डोटसरा ने कहा कि दोनों रिश्तेदार गौरव और प्रभा प्रतिभाशाली है. चयन योग्यता के आधार पर हुआ है.

बेटे का बीजेपी राज में हुआ था चयन: डोटासरा

डोटसरा का कहना है कि इसमें किसी भी राजनेता का कोई लेना देना नहीं है. किसी के रिश्तेदार या जानकार होने से चयन नहीं होता. जो बच्चा दिल्ली यूनिवरसिटी से टॉपर हो, जो बीडएस कर चुकी हो उसके चयन पर सवाल उठाना गलत है. डोटसरा ने कहा कि मेरे बेटे का भी पहले चयन हुआ था. तब बीजेपी का राज था. मंत्री का कहना है कि मेरी बहु की बहन और भाई होने से क्या हुआ. एक संयोग ये भी है कि डोटसरा की बहु प्रतिभा का 2016 में आरएएस में चयन हुआ था. तब उन्हें भी इंटरव्यू में 80 अंक मिले थे. लेकिन तब डोटसरा मंत्री नहीं थे.

इंटर्व्यू के लिए मांगी गई थी लोखों की घूस

इस परीक्षा में इंटरव्यू में अंकों पर सवाल इसलिए खड़े हो रहे हैं क्योंकि नतीजों से पहले राजस्थान एंटी करप्सन ब्यूरो ने इंटर्व्यू में अधिक अंक दिलाने के नाम पर घूस का मामला पकड़ा था. जहां एक अभ्यार्थी से एक दलाल ने 23 लाख मांगे थे. आरोप है कि ये घूस राजस्थान लोक सेवा आयोग की सदस्या राजकुमारी गुर्जर के पति भैंरो सिंह गुर्जर की ओर से मांगी गई. जिसके बाद मामले में दलाल को गिरफ्तार कर लिया गया. वहीं भैरोसिंह को पूछताछ के लिए एसीबी नोटिस जारी कर चुकी है. लेकिन भैंरो सिंह फरार है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *