Bilaspur-पेट्रोल डीजल के दामो में बढोत्तरी,पेट्रोल पंपों में कांग्रेस का धरना,केंद्र पर हल्ला बोल

बिलासपुर-डीजल पेट्रोल मूल्य वृद्धि के खिलाफ आज कांग्रेसी नेताओं ने शहर के सभी पेट्रोल पंपों पर धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेसी नेताओं ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। नेताओं ने बताया कि मोदी की गलत नीतियों के कारण देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गयी है। धरना प्रदर्शन में कांग्रेस कार्यकर्ताओं के अलावा कांग्रेस दिग्गज नेता से लेकर विधायक शामिल हुए। पेट्रोल डीजल और खाद पदार्थों की मूल्य वृद्धि के खिलाफ जला कांग्रेस कमेटी की अगुवाई में कांग्रेस नेताओं ने शहर के सभी पेट्रोल पंपों के सामने धरना प्रदर्शन किया । इस दौरान कांग्रेसियों ने केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि पिछले 74 साल के इतिहास में आज देश की जनता को रिकार्ड महंगाई का सामना करना पड़ रहा है। पेट्रोलियम पदार्थों में रिकार्ड तोड़ मूल्य वृद्धि से खाद्य तेल से लेकर सभी सामान आसमान छू रहे हैं। ऐसा लगता है कि सूट बूट की सरकार गरीबी नहीं बल्कि गरीबों को ही खत्म करने की साजिश रच रही है।

                    प्रदेश कांग्रेश उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने कहा कि सन 2014 में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रूड ऑयल की कीमत 119 डालर प्रति बैरल थी। बावजूद इसके तात्कालीन समय पेट्रोल डीजल के दाम सत्तर 72 रूपए को पार नहीं गया। आज क्रूड ऑयल की कीमत आधे से भी कम कीमत है।  लेकिन  डीजल पेट्रोल का दाम 100 पार पहुच चुका है। अटल ने बताया कि खाद्य तेल की कीमत आसमान पर है। केन्द्र की मोदी सरकार अडानी के हाथों व्यवस्था बेच चुकी है। प्रधानमंत्री के इशारे पर खाद्य तेलों का दाम डेढ़ से दो गुना पहुंच चुका है। आम जनता की हालत बेहाल है।
 
                  जिला कांग्रेस शहर अध्यक्ष प्रमोद नायक ने बताया कि प्रधानमंत्री की गलत नीतियां देश की जनता पर भारी पड़ रही है। महंगाई के खिलाफ अखिल भारतीय कांग्रेस ने देश स्तर पर पेट्रोल पंप के सामने शांतिपूर्ण धरना प्रदर्शन किया। नायक ने बताया कि एक समय पेट्रोल डीजल और खाद्य तेलों का दाम मैं थोड़ी सी वृद्ध होते भारतीय जनता पार्टी के नेता आसमान सिर पर उठा लिया करते थे। आज हालात बद से बदतर स्थिति में है। बावजूद इसके भारतीय जनता पार्टी के नेता मुंह खोलने को तैयार नहीं है। पिछले कुछ महीनों में ही पेट्रोल की कीमत में 44 बार इजाफा हुआ है। इसका असर सामान्य जनता पर पड़ा है। इतना ही नहीं कोविड काल में भी मोदी सरकार ने जनता को बेरहमी से लूटने का कोई मौका नहीं छोड़ा है। 

                              धरना प्रदर्शन में शामिल तखतपुर विधायक और संसदीय सचिव रश्मि सिंह ने मोदी सरकार को जमकर आड़े हाथ लिया। रश्मि सिंह ने बताया कि मनमोहन सिंह सरकार के समय क्रूड ऑयल की कीमत 66 डॉलर प्रति बैैैरल हुआ करता था। बावजूद इसके पेट्रोल डीजल के दाम मेें बहुत अधिक परिवर्तन देखने को महीं मिला।  आज अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रूड ऑयल की कीमत साल 2014 के के तुलनाम में बहुत ही कम है। लेकिन पेट्रोल का दाम रिकार्ड स्तर पर पहुंच गया है। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री  ने बयान जारी किया है कि डीजल पेट्रोल की कीमतों में इजाफा जनहित में लिया गया है। सवाल के जवाब में  रश्मि सिंह ने कहा कि यह कैसा जनहित महंगाई की मार से जनताा त्राहि-त्राहि कर रही है।

               रश्मि ने बताया कि चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी के नेता बढ़ चढ़कर बयान दिया करते थे कि सरकार बनतेे ही पेट्रोल डीजल के दाम आधे हो जाएंगे। दाम आधा होना तो दूर बल्कि मोदी सरकार ने देश को पूंजीपतियों के हाथों बेच दिया है। pm को अपने पद से तत्काल इस्तीफा दे देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *