राजधानी में मंकीपॉक्स का एक और केस मिला

Monkeypox Cases in Delhi: दिल्ली में मंकीपॉक्स के एक और केस की पुष्टि हुई है. आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में रहने वाला 35 वर्षीय नाइजीरियाई शख्स मंकीपॉक्स से संक्रमित मिला है. उसने हाल में कोई विदेश यात्रा नहीं की है. देश में मंकीपॉक्स के अब तक छह केस आए हैं. इनमें से दो केस की दिल्ली में और चार केस की पुष्टि केरल में हुई है.सूत्रों ने बताया कि मंकीपॉक्स से संक्रमित मिले नाइजीरियाई व्यक्ति को सरकारी एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराया गया है. एलएनजेपी इस संक्रमण के इलाज के लिए नोडल अस्पताल है.

कैसी है संक्रमित की हालत?

सूत्रों के मुताबिक, नाइजीरियाई व्यक्ति पिछले पांच दिनों से बुखार से जूझ रहा है और उसके शरीर पर दाने भी हैं. उन्होंने बताया कि एलएनजेपी अस्पताल में अफ्रीकी मूल के दो और संदिग्ध मरीजों को भी भर्ती कराया गया है.

आज ही राजस्थान में मंकीपॉक्स बीमारी का पहला संदिग्ध मामला सामने आया है. राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय के अधीक्षक डॉ अजीत सिंह ने कहा कि मंकीपॉक्स के संदिग्ध लक्षणों वाले एक युवक को जयपुर के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है और उसके नमूनों को जांच के लिये भेजा गया है.उन्होंने बताया कि मंकीपॉक्स के संदिग्ध लक्षणों वाले 20 साल के एक युवक को रविवार रात को किशनगढ़ से यहां भेजा गया. उनके अनुसार उसे संस्थान के मंकीपॉक्स उपचार के लिए बने विशेष वार्ड में निगरानी में रखा गया है तथा उसके नमूने जयपुर स्थित सवाई मानसिंह चिकित्सालय एवं पुणे के राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान में भेजे गये हैं.

मंकीपॉक्स से देश में पहली मौत

केरल सरकार ने आज ही बताया कि 30 जुलाई को 22 वर्षीय जिस व्यक्ति की मौत हुई थी वह मंकीपॉक्स से संक्रमित था. मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) पुणे को भेजे गए नमूनों में संक्रमण मिला और यह पश्चिम अफ्रीकी वेरिएंट था.

विजयन ने कहा कि 22 जुलाई को केरल पहुंचा यह व्यक्ति इससे पहले 19 जुलाई को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में मंकीपॉक्स से संक्रमित पाया गया था. तबीयत बिगड़ने के बाद उसे 27 जुलाई को त्रिशूर स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, लेकिन उसके रिश्तेदारों ने यूएई से मिली जांच रिपोर्ट के बारे में 30 जुलाई को अस्पताल के अधिकारियों को बताया. मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले की विस्तृत जांच की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *