बाबा के समर्थन में ट्विटर में हंगामा..भाजपा नेता सुशांत ने लिखा..महाराजा के साथ..आत्मसम्मान से बड़ा कुछ नहीं..कुछ ने दी भाजपा में आने की सलाह

बिलासपुर— विधायक बृहस्पत और टीएस सिंहदेव विवाद मामला वृरहस्पत की माफी के साथ फिलहाल शांत होता दिखाई दे रहा है। लेकिन समर्थकों के साथ विपक्ष के नेता अभी भी विवाद को लेकर सक्रिय बने हुए हैं। जहां कई लोग बाबा के समर्थन में रैली प्रदर्शन की तैयारी में है तो भाजपा समेत विपक्षी पार्टी के नेता खुलकर बाबा का साथ दे रहे हैं। इसी क्रम में भाजपा के युवा नेता सुशांत शुक्ला ने ट्विटर में बाबा के समर्थन में पोस्ट किया है। उन्होने लिखा है कि बाबा के आत्मसम्मान का हम ना केवल सम्मान करते हैं। बल्कि बाबा की लड़ाई की लड़ाई में हम साथ हैं।

                 भाजपा नेता सुशांत शुक्ला ने ट्विट कर स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव का साथ दिया है। सुशांत ने अपने ट्विट में कहा है कि छत्तीसगढ़ में पद के सामने आत्मसम्मान को सीना ठोक के खड़े होते देख दलीय निष्ठा और प्रतिबद्धता से परे होकर टीएस सिंहदेव का आदर करते हैं। सदन में दिए गए बयान के बाद बाबा के प्रति सम्मान बढ़ गया है। सुशांत शुक्ला ने लिखा है कि सामाजिक जीवन में आत्मसम्मान की इस लड़ाई में मैं महाराज सरगुजा के साथ हूं। 

                  सुशांत ने बताया कि बाबा स्वाभिमानी और भले इंसान है। प्रदेश में उनका बहुत ही सम्मान है। बाबा पर बृहस्पत सिंह का आरोप समझ से परे हैं। बाबा के मान सम्मान और स्वाभिमान का हम इज्जत करते हैं। हम हमेशा बाबा के साथ हैं।

                सुशांत शुक्ला के ट्विट पर रीट्विट कर नवीन ने बाबा को संबोधित कर लिखा है कि आत्माभिमान से बढ़कर एक मनुष्य के लिए कुछ भी नहीं है। आपका हमारे मातृ संगठन बीजेपी में स्वागत है। पद कुर्सी की गारंटी तो नहीं…पर प्रतिष्ठा और आत्मसम्मान से बीजेपी में समझौता नहीं होता है। 

             सुशांत के ट्विट पर मधु माही ने लिखा है कि दो दिन के मीडिया कवरेज में बने रहने के बाद टीएस बाबा जैसे सज्जन व्यक्ति पर इतना बड़ा आरोप लगाना अशोभनीय है। बृहस्पति को समझना चाहिए कि कुछ भी उल जुलूल मीडिया में कह देने पर माफी मांगनी चाहिए।

                   ओम ने लिखा है कि टीएस सिंहदेव अपने साथ साथ पार्टी की गरिमा और अपने उत्तरदायित्व का सम्मान बखूबी समझते हैं। अपने आत्मसम्मान समेत अपने स्वाभिमान के प्रति हमेशा सजग रहे हैं। मैं भी सरगुजा के समर्थन में खड़ा हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *