पुलिस की बहुत बड़ी कार्रवाई..सुपारी किलिंग का खुलासा..हत्या को अंजाम देने से पहले दो आरोपी गिरफ्तार.2 फरार.शार्प शूटर से 1 लाख में सौदा

बिलासपुर—-पुरानी रंजिश की आग में जल रहे दो हत्या की योजना बनाते पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। सरकन्डा पुलिस ने आरोपियों के पास से एक देसी कट्टा और दो जिंदा कारतूस बरामद किया है। ओ़डीसा से बुलाए गए दोनों आरोपी शार्प शूटर हैं। पुलिस फरार दो आरोपियों की गंभीरता से तलाश कर रही है।
 
            सरकन्डा पुलिस को अपराध पतासाजी के दौरान बड़ी सफलता मिली है। थाना प्रभारी परिवेश तिवारी को जानकारी मिली कि बंगाली पारा गली नंबर 3 में एक व्यक्ति देसी कट्टा और  जिंदा कारतूस लेकर गंभीर अपराध के चक्कर में घूम रहा है।
 
              सूचना मिलते ही परिवेश तिवारी ने पुलिस कप्तान दीपक झा को जानकारी दी। , अतिरिक्त पुलिस कप्तान उमेश कश्यप, नगर पुलिस अधीक्षक स्नेहिल साहू को पुलिस कप्तान ने तत्काल कार्रवाई का निर्देश दिया। हालात की जानकारी से अवगत भी कराया।
 
दो आरोपियों को पकड़ा गया
 
                                    मुखबीर से मिली जानकारी के आधार पर पुलिस टीम ने बताए गए स्थान पर घेराबंदी कर सुमेश कश्यप को धर दबोचा। तलाशी के दौरान आरोपी के कमर में छुपा कर रखे गए एक देसी कट्टा और कारतूस को तत्काल जब्त किया।
 
              इसके बाद  एडिश्नल एसपी उमेश कश्यप, डीएसपी स्नेहिल साहू और थानेदार परिवेश तिवारी ने कड़ाई से पूछताछ किया। साथ ही आरोपी के मोबाइल का बारीकी से जांच पड़ताल की गयी।
 
पूछताछ में हुआ खुलासा
 
           आरोपी सुमेश कश्यप ने बताया कि गिदौरी निवासी अपने साथी किशन कश्यप, राकी उर्फ करण कश्यप के साथ मिलकर गिदौरी के ही रहने वाले मोटी कश्यप की हत्या करना चाहते हैं। मोंटी से दोनों की पुरानी रंजिश है। हत्या करने के लिए उड़ीसा के कुंदन सागर को व्हाट्सएप के माध्यम से चैटिंग कर हत्या का सुपारी दिया गया है।
 
                     कुंदन सागर एक कट्टा और दो कारतूस लेकर एक हफ्ता पहले ही गिधौरी आया।  किशन कश्यप के ट्यूबवेल में ठहर कर कट्टा कारतूस से मोंटी कश्यप को मौत की घाट उतारने का योजना तैयार किया। मौका नहीं मिलने और हथियार की कमी के कारण कुंदन सागर हथियार लेने राकी कश्यप के साथ उड़ीसा गया है।
 
एक लाख रूपयों की सुपारी
 
              आरोपियों ने पुलिस को बताया कि मोंटी की हत्या के लिए कुंदन सागर के साथ एक लाख सौदा हुआ है। फिलहाल कुंदन को आने-जाने के खर्च के लिए 7500 दिया गया है।
 
              एडिश्नल एसपी उमेश कश्यप ने बताया कि मोंटी कश्यप की योजनाबद्ध तरीके से हत्या करने का षड्यंत्र करना पाया गया है। आईपीसी की  धारा 115, 120 बी और 25.27 आर्म्स एक्ट का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया है।
 
गिरफ्तार आरोपियों का नाम
 
                      एडिश्नल एसपी ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों का नाम सुमेश कश्यप पिता संतोष कश्यप उम्र 24 वर्ष निवासी नेवसा थाना रतनपुर। किशन कश्यप पिता भोले शंकर उम्र 24 वर्ष निवासी गिधौरी थाना रतनपुर है। फरार आरोपियों का नाम राकी कश्यप उर्फ करण कश्यप पिता श्रीध्वज कश्यप निवासी गिधौरी और कुंदन सागर निवासी उड़ीसा है।
 
इनका रहा विशेष प्रयास
 
         नगर पुलिस अधीक्षक स्नेहित साहू ने बताया कि संपूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी निरीक्षक परिवेश तिवारी थाना सरकंडा ,सहायक उपनिरीक्षक हेमंत आदित्य, प्रधान आरक्षक चंद्रकांत डहरिया, आरक्षक विवेक राय बलवीर सिंह, प्रमोद सिंह, अविनाश कश्यप, लगन खांडेकर एवं थाना सिविल लाइन के आरक्षक सरफराज खान की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *