अधिकारियों ने दिया आश्वासन..अटल ने संदीप का खत्म कराया भूख हड़ताल.किसान नेता ने कहा.10 दिन करूंगा इंतजार..फिर..करूंगा जीएम का घेराव

  बिलासपुर–कोटा बेलगहना, खोंगसरा रेल स्टापेज बन्द किए जाने के बाद दस मई से बेलगना में भूख हड़ताल पर बैठे किसान कांग्रेस नेता संदीप शुक्ला ने अनशन तोड़ दिया है। अनशन रेलवे कर्मचारियों के आश्वासन के बाद पर्यटन मण्डल चैयरमैन अटल श्रीवास्तव और प्रमोद नायक की मौजूदगी में तोड़ा। साथ ही एलान भी किया कि यदि रेल प्रशासन ने दस दिन के अन्दर मांग को गंभीरता से नहीं लिया तो खोड़री से जनता के साथ सभी स्टेशनों से बिलासपुर तक पदयात्रा करेंगे। जीएम कार्यालय का घेराव भी करेेंगे।
                      बेलगहना में चार दिनों से चल रहे भूख हड़ताल स्थल पहुंचकर पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव और सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रमोद नायक ने संदीप शुक्ला का भूख हड़ताल तुड़वाया। इस दौरान रेलवे अधिकारियों ने आश्वासन दिया की संदीप शुक्ला की मांग को उच्च अधिकारियों के सामने गंभीरता से रखा जाएगा।
           जानकारी देते चलें कि रेल प्रशासन ने तुगलकी फरमान जारी कर बेलगहना, कोटा, खोंगसरा में स्टापेज को बंद कर दिया। स्टापेज बन्द किए जाने से नाराज किसान कांग्रेस नेता संदीप शुक्ला की अगुवाई में ग्रामीणों ने बेलगहना में क्रमिक आंदोलन के बाद दस मई से भूख हड़ताल शुरू किया।
              संदीप शुक्ला के भूख हड़ताल पर जाने के बाद सपास की महिलाए जनप्रतिनिधि और समर्थकों ने भी धरना स्थल पहुंचकर भूख हड़ताल शुरूकर  किया।
                 हड़ताल में बढ़ती भीड़ और समर्थन को देखते हुए  रेलवे अधिकारी एस.भारतीयन-सहायक वाणिज्य प्रबंधक, पी.के.नगायच-मुख्य वाणिज्य निरीक्षक बिलासपुर, एस.डी.एम. कोटा तुलाराम भारद्वाज  धरना स्थल पहुंचे। अधिकारियों ने अटल श्रीवास्तव और प्रमोद नायक की उपस्थिति में आश्वासन दिया कि मांगों को मण्डल कार्यालय, महाप्रबंधक कार्यालय के  सामने रखा जाएगा। साथ ही वस्तुस्थिति से रेलवे बोर्ड को भी अवगत कराया जाएगा।
               रेलवे अधिकारियों ने कहा कि स्टापेज बंद करने का निर्णय रेलवे बोर्ड ने पूरे देश में लिया है। जिसका असर हमारे जोन पर भी पड़ा है। इसलिए स्टापेज चालू करने का फैसला बोर्ड ही करेगा ।
               भूख हड़ताल तोड़ने के बाद संदीप शुक्ला ने कहा कि धरना स्थल पहुंचकर समर्थन देने पहुंचे वरिष्ठ कांग्रेस नेता अटल श्रीवास्तव,  प्रमोद नायक, अभय नारायण समेत सभी कांग्रेस साथियों का आभारी हूं। यदि दस दिनों के अन्दर मांग पर विचार नहीं किया गया तो खोड़री से बिलासपुर तक सभी स्टेशनों से होकर पदयात्रा करूंगा। बिलासपुर पहुंचकर ग्रामीणों के साथ महाप्रबंधक कार्यालय का घेराव भी करूंगाजरूरत पड़ने पर उग्र आंदोलन कर कोयला लदान बंद किया जायेगा।
          आंदोलन स्थल पर मौजूद सभी सत्याग्रहियों ने रेल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। साथ ही वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के समर्थन में आवाज को बुलंद किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *