पुरानी पेंशन बहाली:29 अप्रैल को आभार महासम्मेलन में एक साथ मिलकर CM भूपेश बघेल का सम्मान करेंगे कई शिक्षक संघ

रायपुर (मनीष जायसवाल) छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश में पुरानी पेंशन बहाल कर दी है शिक्षकों नेताओं ने मुख्यमंत्री को पेंशन के नायक के रूप में देखते हुए उनका सम्मान समारोह राजधानी रायपुर में 29 मार्च को करने का निर्णय लिया है। आयोजन की महत्वपूर्ण कड़ी शिक्षक नेता से विधायक और संसदीय सचिव तक का सफर करने वाले चंद्र देव राय ने कई शिक्षक संघो को एक साथ मिला कर इसे वृहद आयोजन का रूप दे दिया है। इसके अलावा इसमें पंचायत सचिव संघ भी शामिल हो गया है। अब कई शिक्षक संघ संयक्त रूप से सर्व शिक्षक संवर्ग व पंचायत सचिव मंच के बैनर तले आयोजन का हिस्सा बनने वाले है।इस आयोजन की एक बड़ी खास बात यह भी हैं कि संजय शर्मा की अगुवाई वाला छत्तीसगढ़ टीचर एसोसिएशन 29 अप्रेल को रायपुर में ही अपने बैनर तले सम्मान समारोह आयोजित कर रहा है जिसका स्थान अभी गुप्त रखा गया है वहीं मनीष मिश्रा के नेतृत्व वाला सहायक शिक्षक फेडरेशन अभी इस आयोजन से दूर है।

पुरानी पेंशन बहाली पर आभार महासम्मेलन में केदार जैन के नेतृत्व वाला प्रदेश संयुक्त शिक्षक संघ, वीरेंद्र दुबे के नेतृत्व वाला शालेय शिक्षक संघ, तुलसी साहू के नेतृत्व वाला प्रदेश पंचायत सचिव संघ,वरिष्ठ व्याख्याता शिक्षक संघ, प्रदेश शिक्षक कल्याण संघ, छत्तीसगढ़ सर्व कल्याण शिक्षक संघ, छत्तीसगढ़ विद्यालय कर्मचारी संघ, सर्व शिक्षक संघ प्रदेश शिक्षक संघ, छत्तीसगढ़ राज्य शिक्षक संघ, छत्तीसगढ़ राज्य क्रांतिकारी शिक्षक संघ, छत्तीसगढ़ शारीरिक शिक्षक संघ का साथ होने की जानकारी शिक्षक नेता वीरेन्द्र दुबे ने देते हुए बताया कि पुरानी पेंशन बहाली शासन का एक महत्वपूर्ण निर्णय था। जिसका आभार महासम्मेलन संसदीय सचिव चंद्र देव राय की वजह से संयुक्त रूप में हो रहा है। जो कर्मचारी संघों की एकता का परिचय देता है। इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए हमें जोर-शोर से तैयारियां शुरू कर दी है रायपुर के इनडोर स्टेडियम में यह कार्यक्रम 29 अप्रेल को 12 बजे किया जाएगा।

जानकारी देते हुए शिक्षक नेता केदार जैन ने बताया कि पुरानी पेंशन हमारे बुढ़ापे को सुरक्षित कर दी है जिसके लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री और राज्य सरकार वास्तविक सम्मान की अधिकारी है। इसलिए सर्वसम्मति से हमारे पूर्व शिक्षक साथी विधायक चंद्र देव राय के कहने पर शिक्षक संगठन अलग-अलग सम्मान समारोह व धन्यवाद ज्ञापन ना करके इकट्ठा होकर एक साथ कर रहे हैं इसमें उम्मीद है सभी संगठन मिलाकर एक लाख से अधिक शिक्षक इस कार्यक्रम में शामिल होंगे। साझा मंच से कार्यक्रम करने से सब को उम्मीद है कि हमारी पुरानी सेवा की गणना और क्रमोन्नत समयमान वेतनमान व सहायक शिक्षको की वेतन विसंगति की घोषणा भी इसी मंच से हो जाये।

राजधानी रायपुर में आयोजित इस सम्मान समारोह में छत्तीसगढ़ शिक्षक फेडरेशन शामिल नहीं होगा क्योंकि उनकी प्रमुख मांग वर्ग 3 के सहायक शिक्षकों की वेतन विसंगति जस की तस है। इस संगठन के शिक्षक नेताओं का मानना है कि हमारा अब आश्वासन से भरोसा उठ गया है।फेडरेशन के शिक्षक नेता मनीष मिश्रा का कहना है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मिलकर हमने संगठन की ओर से पुरानी पेंशन बहाल किए जाने की बधाई शुभकामनाएं और धन्यवाद दे दिया है। उन्होंने एक बड़ा निर्णय लिया है।फिलहाल सम्मान समारोह के विषय पर प्रांतीय कार्यकरणीं की बैठक में भविष्य में कोई निर्णय लिया जायेगा। लेकिन वर्तमान में सहायक शिक्षक अपनी वेतन विसंगति की मांग को लेकर पिछले चार साल से सिर्फ आस्वासन ही सुनते आ रहा है। इसलिए जिला और प्रांतीय कार्यकारिणी ने तात्कालिक निर्णय लिया है कि हम इस समारोह से अभी दूर रहेंगे यदि किसी मंच से सहायक शिक्षको की वेतन विसंगति की मांग पूरी होती है तो रायपुर सहित प्रदेश के सभी संभागों में सरकार का जोरदार स्वागत सम्मान किया जाएगा जो छत्तीसगढ़ के इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ होगा।

शिक्षक नेता कृष्ण कुमार नवरंग ने बताया कि पदोन्नति में आरक्षण की मांग को लेकर एसोसिएशन पूरे प्रदेश में आंदोलन कर रहा है। मांगो पर टालमटोल नीति चल रही है इससे छत्तीसगढ़ गवर्नमेंट एम्पलाई वेलफेयर एसोसिएशन आहत है। इस लिये एसोसिएशन भी इस स्वागत सम्मान समारोह से दूर रहेगा। क्योंकि 4 फरवरी को रायपुर के बूढ़ा तालाब में सामाजिक और अधिकारी कर्मचारी वर्ग ने यह निर्णय लिया था कि जब तक पदोन्नति में आरक्षण की मांग पूरी नहीं होती हम सरकार के किसी भी कार्यक्रम में संगठन के रूप में शामिल नहीं होंगे। मुख्यमंत्री को पुरानी पेंशन बहाल करने के लिए संघ की ओर से बधाई और शुभकामनाएं है।

पुरानी पेंशन बहाली को लेकर ही
टीचर एसोसिएशन के बैनर तले राजधानी रायपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का सम्मान समारोह 29 अप्रैल को ही होगा। एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा ने बताया कि हमें मुख्यमंत्री का समय मिल चुका है हम कार्यक्रम को संयुक्त रूप से नहीं कर रहे हम अपने बैनर तले ही यह कार्यक्रम करने वाले हैं कार्यक्रम की जगह और समय उचित वक़्त आने पर बताया जाएगा। हमारी तैयारियां पहले से शुरू हो चुकी है।

प्रदेश पंचायत सचिव संघ के प्रदेशाध्यक्ष तुलसी साहू ने बताया कि इस सम्मान महा सम्मेलन में प्रदेश के पंचायत सचिव भी शामिल हो रहे है। हमारा भी NPS 2012 से कटौती हो रहा है। इस हिसाब से हम भी ओल्ड पेंशन के दायरे में है।OPS लागू करना मुख्यमंत्री का ऐतिहासिक निर्णय है। इस आयोजन में प्रदेश के सभी पंचायत सचिव शामिल होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *