ओलंपिक 2020: भारतीय हॉकी टीम के लिए मैडल जीतने की उम्मीद अब भी बरकरार

नई दिल्ली |  टोक्यो ओलंपिक में भारतीय पुरुष हॉकी टीम मंगलवार को पहला सेमीफ़ायल मैच हार गई ।  हॉकी प्रेमियों को  सुबह-सुबह जोरदार झटका लगा है। भारतीय पुरुष हॉकी टीम को पहले सेमीफाइनल मैच में वर्ल्ड चैंपियन बेल्जियम ने 5-2 से हरा दिया। इस हार के बाद भी भारतीय हॉकी टीम के लिए मेडल ज़ीतने का मौक़ा है। लेकिन इसके लिए टीम इँडिया को अपना अगला मुक़बला ज़ीतना होगा।

बेल्ज़ियम के साथ हुए भारता के पहले सेमीफ़ायमल मैच में  पहले हॉफ तक दोनों टीमें 2-2 से बराबर थी। लेकिन दूसरे हॉफ में बेल्जियम की टीम भारतीय टीम पर हावी हो गई और भारत को पराज़य का सामना करना  पड़ा। भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए लगातार 4 मैच जीते थे । बेल्ज़ियम के साथ हुए  इस मैच में भी टीम शानदार प्रदर्शन कर रही थी ।  लेकिन सेमीफाइनल में टीम अपनी  जीत को नहीं दोहरा सकी। बेल्जियम के एलेक्जेंडर हेन्ड्रिक्स ने इस मैच में हैट्रिक लगाई और अपनी टीम को 5-2 से जीत दिला दी।

लेकिन फिर भी अभी भारत के लिए  मेडल जीतने की उम्मीदें बरक़रार है।5 अगस्त को दूसरा सेमीफ़ायनल मैच आस्ट्रेलिया और ज़र्मनी के बीच खेला जाने वाला है। इस मैच मे जो टीम हारेगी , उस टीम के साथ ही ब्रांज़ मैडल के लिए भारत के साथ मुक़ाबला होगा। तब भारतीय टीम को मैडल हासिल करने के लिए अपना यह मैच ज़ीतना होगा।

ओलंपिक में भारतीय हॉकी टीम ने इस बार ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन किया है। भले ही ओलंपिक में गोल्ड मैडल ज़ीतने का सपना एक बार फ़िर से अधूरा ही रह गया है। भारतीय हॉकी टीम ने 1980 में अंतिम बार गोल्ड मैडल ज़ीता था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी देखा मैच
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी सेमीफाइनल में भारतीय टीम का हौसला बढ़ा रहे थे। प्रधानमंत्री मोदी ने इस मुकाबले को देखा और टीम को शुभकामनाएं दी। पीएम ने ट्वीट कर जानकारी देते हुए कहा कि, वे भारत का यह मैच देख रहे हैं। पीएम ने लिखा कि, मैं भारत और बेल्जियम का हॉकी पुरुष सेमीफाइनल देख रहा हूं। हमें हमारी टीम और उनके कौशल पर गर्व है। उन्हें बहुत-बहुत शुभकामनाएं!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *