इंडिया वाल

जानिए कौन है ओम माथुर,जिन्हे बीजेपी ने बनाया है छत्तीसगढ प्रभारी

दिल्ली।बीजेपी राष्ट्रीय नेतृत्व ने राजस्थान में राष्ट्रीय महासचिव और राज्यसभा सांसद अरुण सिंह को प्रभारी पद पर बरकरार रखा है। राजस्थान में सह प्रभारी के तौर पर राष्ट्रीय सचिव विजया राहटकर को जिम्मा सौंपा गया है। जबकि प्रदेश के वरिष्ठ नेता ओम प्रकाश माथुर को छत्तीसगढ़ का प्रभार सौंपा है। अरुण सिंह की प्रदेश प्रभारी पद पर दोबारा नियुक्ति करते हुए पार्टी आलाकमान ने तमाम आशंकाओं पर विराम लगा दिया है।

बात करते है छत्तीसगढ प्रभारी ओम माथुर की।तो ओम माथुर भाजपा संगठन के बड़े घुटे हुए नेता हैं। उम्र 70 साल है यानी अनुभव में कहीं कोई कमी नहीं है। भैरो सिंह शेखावत से उन्होंने राजनीति का क ख ग सीखा, फिर अपनी बखत बनाई। दो बार के राज्यसभा सांसद हैं। इस बार उन्हें जब मौका नहीं मिला, तब राजस्थान में चर्चा थी कि क्या उन्हें मार्गदर्शक मंडल में डाला जाएगा? कुछ जानकार यह भी मान के चल रहे थे कि उन्हें कहीं का राज्यपाल बनाया जा सकता है। हालांकि ऐसा हुआ नहीं।

केंद्रीय चुनाव समिति में उन्हें शामिल किया गया। यह भाजपा की पॉवरफुल कमेटियों में से एक है, जो चुनावी रणनीति बनाती है। माथुर को रणनीतिकार माना जाता है। मोदी-शाह के करीबी नेता हैं। छत्तीसगढ़ में सवा साल बाद चुनाव हैं। माथुर चुनाव समिति में हैं, इसलिए जाहिर है कि वे सीधे मोदी-शाह के निर्देशन में यहां का कामकाज देखेंगे। सबसे मुद्दे की बात यह जान लीजिए कि माथुर उत्तरप्रदेश के प्रभारी रह चुके हैं और वहां सरकार बनाने में इन्हें भी हीरो माना जाता है। नरेंद्र मोदी जब तीसरी बार गुजरात के सीएम बने, तब गुजरात के संगठन प्रभारी माथुर ही थे। महाराष्ट्र में भी प्रभारी रह चुके हैं। रिजल्ट ओरिएंटेड माने जाते हैं। छत्तीसगढ़ के भाजपा नेता मानते हैं कि इसका फायदा उन्हें मिलेगा। वैसे, राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिवप्रकाश और क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल भी संगठन की कसावट में जुटे हुए हैं।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS