तानाशाही के खिलाफ 17 को जंग..रायपुर में धरना प्रदर्शन में शामिल हुए बिलासपुर के कांग्रेसी..अटल ने कहा.केन्द्र सरकार की तानाशाही का करेंगे विरोध

बिलासपुर—-रायपुर में राहुल गांधी और ईडी मामले को लेकर कांग्रेस नेताओं ने धरना प्रदर्शन किया। प्रदेश के दिग्गज कांग्रेसियों समेत बिलासपुर के नेताओं ने भी धरना प्रदर्शन में शिरकत किया। साथ ही अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के कार्यालय में पुलिस का प्रवेश और कार्रवाई को  निंदनीय कदम बताया है।
       प्रदेश कांग्रेस के निर्देश पर रायपुर में कांग्रेस नेताओं ने केन्द्र सरकार के खिलाफ अम्बेडकर चौक पर धरना प्रदर्शन किया।  धरना प्रदर्शन में प्रदेश समेत बिलासपुर के कांग्रेस नेताओं ने भी शिरकत किया। धरना कार्यक्रम सुबह 11 बजे से शुरू होकर दोपहर 1 बजे समाप्त हुआ। 
          प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम की अगुवाई कांग्रेस नेताओं ने राष्ट्रपति के नाम राज्यपाल को ज्ञापन दिया। इस दौरान सभी कांग्रेसियों ने केन्द्र के खिलाफ जमकर आक्रोश जाहिर किया। नेताओं ने  नारेबाजी भी की। धरना प्रदर्शन में मुख्य रूप से अपेक्स बैंक अध्यक्ष बैजनाथ चंद्राकर, संसदीय सचिव रश्मि सिंह, र्प्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, विधायक शैलेश पाण्डेय, महापौर रामशरण यादव, जिला पंचायत अध्यक्ष अरूण सिंह चौहान, सहकारी बैंक अध्यक्ष प्रमोद नायक, प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय, बिल्हा विधायक प्रत्याशी राजेन्द्र शुक्ला, राजेन्द्र साहू, जिला अध्यक्ष विजय केशरवानी, शहर अध्यक्ष विजय पाण्डेय, ब्लाक अध्यक्ष अरविंद शुक्ला, महिला कांग्रेस अध्यक्ष शहर सीमा पाण्डेय, सीमा घृतेश, पूर्व पार्षद तज्जमुल हक, नेतराम साहू, राहुल सिंह, पूर्व महापौर राजेश पाण्डेय समेत सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया।
            पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव ने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता पर की जा रही कार्यवाही से स्पष्ट है कि मोदी सरकार राहुल गांधी और कांग्रेस से घबरा रही है। कार्रवाई से साफ जाहिर हो गया है कि केन्द्र सरकार ने लोकतंत्र की हत्या का बीड़ा उठाया है। मोदी सरकार गलती के खिलाफ आवाज उठाने वालों का गला घोटना चाहती है। लेकिन कांग्रेस दुनिया के सबसे खूुबसूरत लोकांत्रिक देश को तानाशाही की भेट नही चढ़ने देगा।
                    अटल ने बताया कि नेशनल हेराल्ड का मामला पूरी तरह से पारदर्शी है। किसी अखबार को बचाने के लिए लोन देना किसी भी तरह से अपराध नहीं है। नेशनल हेराल्ड ने आजादीके समय अंग्रेजों के खिलाफ मुखरता के साथ आवाज बुलंद किया है। और यही बात भाजपा नेताओं को पसंद नही है।
                अटल श्रीवास्तव ने  कहा कि दिल्ली स्थित अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी कार्यालय में पुलिस का प्रवेश केन्द्र सरकार की तानाशाही को साबित करता है। ऐसा किया जाना लोकतंत्र के लिए चिंता का विषय है।  किसी राजनीतिक दल के कार्यालय में प्रवेश करना देश के लिए पहली घटना है। कांग्रेस पार्टी इसका विरोध करती है। 17 जून को पूरे प्रदेश में ब्लाक स्तर पर आंदोलन कर मोदी सरकार की तानाशाही रवैये का विरोध किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *