फैक्ट्री से निकलते ही 15 लाख का 30 टन सरिया गायब.पढ़ें. शातिर ने कैसे दिया वारदात को अंजाम. 24 घंटे में चढ़ गया पुलिस के हत्थे..माल बरामद

रायगढ—- फर्जी कागजात के सहारे गलत ट्रक में 15 लाख की 30 टन सरिया लेकर फरार आरोपी को माल के साथ गिरफ्तार कर लिया गया है। शातिर को पुलिस ने पूंजीपथरा क्षेत्र से मय माल से पकड़ा है।पुलिस के अनुसार आरोपी पूर्व में चोरी के मामले को लेकर अलग अलग थानो में अपराध दर्ज है।
 
        चक्रधरनगर पुलिस ने 19 अप्रैल को पूंजीपथरा थानाक्षेत्र से ट्रक ड्रायवर को मय ट्रक के साथ लोड 30 टन MT ब्लेड्स समेत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेज दिया है। आरोपी ट्रक ड्रायवर नटवरपुर मां मणि इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड चक्रधरनगर फैक्ट्री से 17 अप्रैल को ट्रक में 30 टन  MT सरिया लोड़कर रायपुर के लिये रवाना हुआ। लेकिन समय पर रायपुर पहुंचा। बल्कि पूंजीपथरा में ग्राहक तलाशते पकड़ा गया है। 
 
         पुलिस के अनुसार 18 अप्रैल को घटना के संबंध में मां मणि फैक्ट्री के मैनेजर हरेंद्र प्रसाद पिता राम प्रयोजन राय ने रुक्मणि विहार थाना कोतवाली रायगढ़ में रिपोर्ट दर्ज कराया। रिपोर्ट में बताया गया कि रायपुर उरला स्थित जय अंबे इस्पात प्राइवेट लिमिटेड और आर.एस. स्टील उद्योग को माल भेजने का ऑर्डर मिला। आर्डर को ट्रक क्रमांक सी.जी. CG-13 AD/3917 से दोनों कम्पनियों को क्रमशः 19.690 MT एमएम ब्लेड्स कीमत 9,53,788 और 10.35 MT कीमती 5,13,581 कुल 30.040 MT एमएस ब्लेडस कीमती 14,67,369 का लोड़ किया गया।  17 अप्रैल को दोपहर करीब 12:30 बजे ड्रायवर फैक्ट्री से लेकर निकला था ।
 
              ट्रांसपोर्टर ने फैक्टरी में कॉल कर बताया कि माल रायपुर नहीं पहुंचा है।  ड्राइवर का मोबाईल बंद है । मैनेजर के लिखित आवेदन पर थाना चक्रधरनगर में वाहन चालक और ट्रांसपोर्टर के खिलाफ आईपीसी की धारा 407, 34  के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया ।
 
                           पुलिस कप्तान संतोष सिंह ने बताया कि अलग-अलग टीम का गठन कर ट्रक और ड्रायवर की पतासाजी शुरू हुई। इसी दरम्यान टीआई चक्रधरनगर को मुखबिर से जानकारी मिली कि एक व्यक्ति पूंजीपथरा के पास लोहा बिक्री के लिये ग्राहक तलाश रहा है। खबर मिलते ही पुलिस हरकत में आयी। पूंजीपथरा-तमनार रोड़ आमाघाट के पास संदेही ट्रक ड्रायवर को पकड़ा गया । ट्रक में अलग नंबर  प्लेट लगा हुआ था ।
 
              चक्रधरनगर स्टाफ को संदेही ने पूछताछ के दौरान अपना नाम राम सिंह सिदार पिता बरतराम सिदार उम्र 35 वर्ष निवासी बुडिया डिपापारा थाना तमनार बताया। कड़ाई से पूछताछ करने पर रामसिंह सिदार बताया कि पिछले साल नवंबर 2020 को प्रदीप कुमार यादव की ट्रक क्रमांक CG-14 ML/5370 को किराए में लिया था। ट्रक स्वयं चलाता था, पूर्व में खरसिया में इसी ट्रक को चला रहा था। अपने साथी ड्राइवर महेन्द्र तिवारी के जानकारी के बिना उसके ट्रक क्रमांक CG-13 AD/3917 का रजिस्ट्रेशन कागजात की छायाप्रति रख लिया था ।
 
             रामसिंह सिदार ने बताया कि वह अपने कर्ज और ट्रक का किराया रूपये दे नहीं पाने के कारण अपने ट्रक CG-14 ML/5370 के ऊपर पेंट कर CG-13 AD/3917 लिख दिया । दिनांक 17 अप्रैल 2021 को मां मणि फैक्ट्री पहुंचकर CG-13 AD/3917 का रजिस्ट्रेशन की छायाप्रति जिसे पहले से रखा था , दिखाकर फैक्ट्री से गाड़ी में माल रोड कराया। ड्राइवर रामसिंह फैक्टरी से महामाया ट्रांसपोर्ट के मुंशी से मोबाईल पर बात कराया।
 
              फैक्ट्री से निकलने के बाद पकड़ में नहीं आने का विचार कर ट्रांसपोर्टर जाकर बिल्टी बनाने का प्रयास किया । ट्रांसपोर्ट आफिस में वाहन का ओरिजिनल कागजात मांगा गया। पकड़े जाने के डर से  भाग गया। लोहा बिक्री के लिए ग्राहक ढूंढ रहा था। इसी दौरान पुलिस ने पकड़ लिया।
 
           पुलिस कप्तान संतोष सिंह ने बताया कि आरोपी राम सिंह सिदार के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 के तहत अपराध दर्ज किया गया है। आरोपी को गिरफ्तार कर रिमांड पर जेल भेजा गया है । आरोपी के खिलाफ पूर्व मे थाना कोतवाली सुन्दरगढ़ (ओडिशा), थाना कुनकुरी(जशपुर), सिटी कोतवाली रायगढ़ और थाना तमनार में चोरी के अपराध में गिरफ्तार किया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *