52 लाख से अधिक रूपयों की Online ठगी.. जामताड़ा से दो आरोपी गिरफ्तार..पुलिस का दावा,जल्द ही पकड़ाएंगे फरार आरोपी,1 लाख जब्त

बिलासपुर-आनलाइन ठगी मामले में पुलिस ने दो दिनो तक जामताड़ा में कैम्प लगाने के बाद दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े दो आरोपियों में से एक आरोपी को धोखाधड़ी मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस के अनुसार कार्रवाई के दौरान  अभी कई मामले में दर्ज जामताडा़ से आरोपी फरार है। पकड़े गए दोनो आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420, 34 और 66 (डी) आईटी एक्ट के तहत अपराध दर्ज किया गया है। दोनो आरोपियों को जेल के हवाला कर दिया गया है।सरकन्डा पुलिस और एन्टीक्राइम यूनिट के साथ साइबर टीम ने जामताड़ा से ठगी के दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार 5 जुलाई 2021 को सरकन्डा निवासी नरेन्द्र कुमार स्वर्णकार लिखित में बताया कि 1 जुलाई 2021 को उसके मोबाईल पर मोबाईल नंबर में फोन आया। कालर अपने आपको जियो कस्टमर सेल नोएडा का आफिसर बताया। उसने केवाईसी और नोटिफिकेशन की रोक लगाने की बात कहा। उसने 10 रूपये का रिचार्ज एसबीआई और केनरा बैंक से नेट बैंकिंग के माध्यम से करने का निर्देश दिया। वाकर और एनीडेस्क एपलीकेशन डाउनलोड करने का सुझाव दिया।
52 लाख की आनलाइन ठगी
          आवेदक ने बताया कि एसबीआई और  केनरा बैंक खाते से विभिन्न किस्तो मे कुल 52,93,699 रूपये का ट्रान्जेक्सन कर धोखाधडी किया गया है। पुलिस ने तत्काल पीड़ित की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए आईपीसी की 420 का अपराध दर्ज किया। आलाधिकारियों के संज्ञान मैें लाकर मामले को  विवेचना में लिया गया।विवेचना के दौरान सायबर सेल को जानकारी मिली कि ठगी करने वालों में  एक आरोपी झुन्ना भंडारी पिता स्व. महराज भंडारी गोपालपुर थाना करमाटांउ जामताडा झारखण्ड का रहने वाला है। गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया है।
 9 सदस्यीय टीम का गठन
 
                 अपराध समीक्षा के दौरान पुलिस कप्तान पारूल माथुर ने सरकंडा पुलिस और एन्टी काईम एण्ड सायबर यूनिट से 9 सदस्ययी टीम का गठन किया। सायबर सेल प्रभारी प्रभाकर तिवारी को निर्देश दिया कि मा्मले को गंभीरता से लेते हुए छानबीन करें। पुलिस कप्तान ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक उमेश कश्यप, सरकंडा सीएसपी स्नेहिल साहू, निरीक्षक हरविंदर सिंह और थाना प्रभारी सरकंडा ताण्डेकर के दिशा निर्देश में निरीक्षक अशोक व्दिवेदी की अगुवाई में टीम को झारखण्ड जामताडा रवाना किया। 
 सात दिनों का जामताड़ा कैम्प
              टीम ने जामताड़ा में 7 दिनों तक सायबर तकनिक और अपने पूर्व में लगाये गये मुखबिरों के माध्यम से घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों को पतासाजी की। स्थानीय पुलिस के सहयोग से बीहड जंगल ग्राम बगरूडीह से झरी मंडल पिता स्व. गणेश मंडल  को थाना करमाटॉड जिला जामताडा झारखण्ड से हिरासत में लिया गया। साथ ही दूसरे आरोपी सचिन मंडल पिता दिलीप मंडल उर्फ दुबराज मंडल को बगरूडीह मंडल टोला से पकड़ा गया।
 
एक लाख रूपए बरामद,  बाकी खर्च
 
              पूछताछ के दौरान और आरोपियों ने  ठगी की रकम को साथियों के बीच  बटवारा करना बताया। आरोपियों ने बताया कि ठगी के बाद सचिन मंडल को पांच लाख झरी मंडल को दो लाख दिए। पुलिस ने झरीमंडल के कब्जे से पुलिस ने 70000 रूपए सचिन मंडल के कब्जे से 30000 रूपए  कुल 100000 रूपए दोनों आरोपीयों से कुल एक लाख रूपए जब्त किया गया। आरोपियों ने बताया कि बाकी रकम खर्च कर दिए हैं। पूछताछ के बाद दोनों आरोपीयों को विधिवत गिरफतार कर जामताडा न्यायालय से ट्रांजिट रिमाण्ड बिलासपुर लाया गया। दोनो को न्यायिक रिमाण्ड पर जेल दाखिल किया गया है।
आरोपियों की पतासाजी
         पुलिस के अनुसार दानों आरोपीयों से पूछताछ के दौरान जामताडा ग्राम बगरूडीह ·फूकबंदी, मारगोमुण्डा मधुपुरऔर  आसपास के कई सारे गांव के लोगों का अपराध में संलिप्त होना पाया गया है। सभी आरोपियों की पतासाजी हो रही है। जल्द ही सभी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
पकड़े गए दोनो आरोपियों का नाम
1) झरी मंडल पिता स्व. गणेश मंडल उम्र 70 साल निवासी बगरूडीह थाना करमाटॉड जामताडा। 2) सचिन मंडल उम्र 22 साल निवासी बगरूडीह मंडल टोला थाना करमाटॉड जामताडा झारखण्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *