केन्द्र की श्रम विरोधी नीतियों का खुला विरोध..श्रमिक नेता पीआर ने ललकारा ..विधायक और मेयर ने किया संबोधित

बिलासपुर—- केन्द्र सरकार की श्रम नीतियों के खिलाफ गुरूवार को केंद्रीय ट्रेड यूनियन ने  राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल किया। श्रमिक संगठन के अनुसार हड़ताल में करोड़ो  श्रमिकों ने भाग लिया। साथ ही कर्मचारियों ने हिस्सा लेकर अखिल भारतीय हड़ताल को सफल बनाया है। इसी क्रम में बिलासपुर में भी श्रमिकों और कर्मचारियों ने हड़ताल में हिस्सा लेकर सरकार पर श्रम विरोधी नीतियों के खिलाफ दबाव बनाया है।
 
                  गुरूवार को देश भर में एक साथ केन्द्रीय ट्रेड यूनियन के बैनर तले अखिल भारतीय हड़ताल किया गया। बिलासपुर में भी श्रमिक और कर्मचारियों ने हड़ताल में हिस्सा लिया। यूनियन नेता पीआर यादव ने बताया अखिल भारतीय हड़ताल में देशभर के करीब 25 करोड़ से अधिक मेहनतकश मजदूर और कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। हडताल को सफल बनाया। 
 
      श्रमिक नेता पीआर यादव ने बताया कि बिलासपुर में नेहरू चौक में श्रमिक, मेहनतकश और कर्मचारियों ने केंद्र सरकार के श्रमिक और जन विरोधी नीतियों के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान देश के अन्य भागों की तरह बिलासपुर में भी मजदूर किसानों ने एकजुटता प्रदर्शित किया। किसानों ने पूरे देश में चक्का जाम कर मंडी कानून और  कृषि क्षेत्र को कारपोरेट को सौंपने के षड्यंत्र के खिलाफ आक्रोश  जाहिर किया है।
 
             जानकारी देते चलें कि नेहरू चौक में बिलासपुर ट्रेड यूनियन काउंसिल के आव्हान पर बैंक बीमा डाक इनकम टैक्स रेल एसईसीएल विद्युत कंपनी राज्य और केंद्र के कर्मचारियों ने एकजुट होकर आवाज को बुलन्द किया है।
 
                 इस दौरान उपस्थित वक्ताओं ने केन्द्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। सभा की अध्यक्षता ट्रेड यूनियन काउंसिल अध्यक्ष पीआर यादव ने किया। सभा को ट्रेड यूनियन नेताओं के अलावा महापौर रामशरण यादव और विधायक शैलेश पांडे ने भी संबोधित किया। दोनों नेताओं ने अपने भाषण में मजदूर,मेहनतकश और कर्मचारियों की भारतीय अर्थव्यवस्था की धड़कन कहा। विधायक और मेयर ने कहा कि हम केन्द्रीय सरकार की श्रमिकों के खिलाफ तुलगलकी नीतियों को हरगिज बर्दास्त नहीं करेंगे। साथ ही हमें मालूम है कि हमारे मुखिया प्रदेश के किसानों,मजदूरों और मेहनतकश के साथ थे..और रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *