आपरेशन तीसरी ऑख की हलचल..10 मामलों में कार्रवाई..पारूल माथुर ने कहा..शिकायतकर्ता का नाम रखा जाएगा गुप्त..वाट्सअप पर भेजें वीडियो

बिलासपुर— ट्रैफिक पुलिस की तीसरी आँख योजना के तहत पहली कार्रवाई के जनता ने पुलिस प्रशासन की जमकर तारीफ की है। योजना के तहत पुलिस प्रशासन ने 11  शिकायतो में 10 शिकायतो का तत्काल निराकरण किया है।
 
                              पुलिस कप्तान पारूल माथुर के ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने आपरेशन तीसरी आंख को लेकर आम जनता ने खुशी जाहिर की है। “ट्रैफिक पुलिस की तीसरी आँख बने” योजना के तहत जारी नम्बर पर पहले ही दिन 11 शिकायते प्राप्त हुई। 10 शिकायतो का निराकरण चंद घण्टो में ही किया गया। समस्या सुलझने से खुश सूचना दाताओं ने ट्रेफिक पुलिस के प्रति धन्यवाद भी जाहिर किया है।
 
11 शिकायतें..10 पर कार्रवाई
 
     पुलिस कप्तान के निर्देश पर आपरेशन तीसरी आंख को पहले ही दिन अच्छी सफलता मिली है। विभाग की तरफ से जाहिर किए गे मोबाइल नम्बर पर जनता की तरफ से  रॉंग पार्किंग,सड़क में मटेरियल डंम्प करने,बेतरतीब ऑटो खड़ी करने सम्बन्धी 11 शिकायते मिली। फ़ोटो वीडियो के साथ मिली शिकायतो को ट्रेफिक पुलिस ने चंद घण्टो में ही कार्यवाही कर सुलझा दिया।
 
आभार प्रदर्शन
 
          समस्या कका तत्काल निराकरण होने के बाद सूचना देने वालों ने तत्काल पुलिस के बताए गए वाट्सअप नम्बर में मैसेज देकर आभार प्रदर्शन किया है। ट्रैफिक पुलिस के अनुसार पुलिस के मोबाइल नम्बर पर नेहरू नगर,-व्यापार विहार, ब्रिलियंट पब्लिक स्कूल, पुराना बस स्टैंड,सरकण्डा क्षेत्र, अग्रसेन चौक मगरपारा चौक के अलावा अन्य क्षेत्रों से ट्रैफिक सम्बधित 11 शिकायतों मिली। इसमें 10 शिकायतों का तत्काल निराकरण किया गया। 
 
गुप्त रखा जाएगा नाम
 
                  जनता से बेहतर प्रतिसाद मिलने के बाद पुलिस कप्तान पारूल माथुर ने बताया कि ट्रैफिक पुलिस इस योजना के तहत तभी कार्यवाही कर सकती हैं। आम जनता वाहन के रजिस्ट्रेशन नम्बर, उल्लंघन का समय,दिनांक,स्थान की जानकारी वीडियो फ़ोटो के माध्यम से वाट्सअप नम्बर 9479193015 पर अपनी शिकायतों को दर्ज कराए। मोटर व्हीकल एक्ट का उल्लंघन करने वालो पर कार्यवाही की जाएगी। साथ ही शहर की बेलगाम ट्रैफिक व्यव्यस्था को पटरी पर लाने का जनता के सहयोग से प्रयास किया जाएगा। शिकायत करने वालों की  पहचान को भी गुप्त रखा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *