जिला भाजपा ने बनाई निगरानी समिति,धान खरीदी पर रहेगी पैनी नजर

बिलासपुर।छत्तीसगढ़ प्रदेश भारतीय जनता पार्टी की कार्य योजना अनुसार भाजपा जिला संगठन बिलासपुर द्वारा बिलासपुर जिले के समस्त भाजपा मंडलों में धान खरीदी केन्द्रों पर भाजपा मंडल अध्यक्षों की अनुशंसा अनुसार निगरानी समिति का गठन किया गया है। भाजपा द्वारा घोषित निगरानी समिति के सदस्य बिलासपुर जिले में अपने मंडल के धान खरीदी केन्द्रों पर किसानों को होने वाली असुविधाओं को दूर करने का प्रयास करेंगे एवं पुरी मुस्तैदी के साथ नजर रखेंगे। भाजपा जिला अध्यक्ष रामदेव कुमावत, जिला महामंत्री घनश्याम कौशिक, मोहित जायसवाल ने कहा कि किसानों से धान खरीदी नवम्बर माह से ही प्रारंभ हो जाना चाहिए था लेकिन छत्तीसगढ़ प्रदेश में कांग्रेस की सरकार ने 1 दिसम्बर से धान खरीदी प्रारंभ की है, देर से धान खरीदी प्रारंभ करने के बाद भी किसानों को धान खरीदी केन्द्रों पर अनेक कठिनाईयों एवं समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। धान खरीदी केन्द्रों पर छत्तीसगढ़ सरकार के दबाव में कार्यरत् कर्मचारियों द्वारा किसानों को जबरिया प्रताड़ित किया जा रहा है। कभी बारदाना का बहाना बनाते है किसानों की उपज को कम तौलते है, किसानों द्वारा जल्दी करने पर पैसा मांगते है, धान खराब है नमी है कहकर इंकार कर देते है

धान खरीदी केन्द्रों पर कर्मचारियों द्वारा धान लेने में देरी करने के कारण जाम की स्थिति बन रही है एवं किसानों का रकबा कम करने से किसान कम धान बेच पा रहे है व धान बेचने हेतु किसान को टोकन के लिए भी इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। प्रदेश का अन्नदाता किसान सरकार एवं धान खरीदी केन्द्रों पर नियुक्त कर्मचारियों के रवैय्ये से परेशान हो रहे है। भाजपा नेताओं ने कहा कि धान खरीदी केन्द्रों पर धान बेचने में किसानों को होने वाली उपरोक्त सहित सभी परेशानियों के कारण प्रदेश भाजपा ने पूरे प्रदेश में धान खरीदी केन्द्रों पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने निगरानी समितियां गठित की है जिसके अंतर्गत बिलासपुर जिले में गठन किया गया है।

भाजपा जिला अध्यक्ष रामदेव कुमावत, जिला महामंत्री घनश्याम कौशिक, मोहित जायसवाल ने सभी भाजपा मंडल अध्यक्षों से कहा है कि उनके द्वारा अनुसंशित निगरानी समिति की घोषणा कर दी गई है अतः सभी भाजपा मंडल अध्यक्ष सहित निगरानी समितियां अपने मंडल ें धान खरीदी केन्द्रों पर सत्त निगरानी रखे एवं किसानों को होने वाली परेशानियों से किसानों को राहत दिलाने का प्रयास करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *