एवरेस्ट फ़तह करने वाली छत्तीसगढ़ की बेटी नैना सिंह धाकड़ को संसदीय सचिव यूडी मिंज ने दी बधाई और शुभकामनाएं

जशपुर । संसदीय सचिव यूडी मिंज ने बस्तर की पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ द्वारा विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट फतह करने पर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। उन्होने नैना के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा है छत्तीसगढ़ की बेटी नैना सिंह धाकड़ ने माउंट एवरेस्ट की चोटी फतह कर राज्य के नाम को कई गुना और गौरवान्वित कर दिया है। 

यू.डी. मिंज़ ने कहा विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट(8848.86 m) व माउंट लोत्से(8516 m)-दोनो को फ़तह करने वाली राज्य की प्रथम महिला बन गयी हैं।राज्य की पहली महिला पर्वतारोही के खिताब के लिए उन्हें बधाई और हार्दिक शुभकामनाएं।उन्होंने कहा नैना ने अपने दृढ़ संकल्प,  इच्छाशक्ति तथा अदम्य साहस से विश्व की सबसे ऊंची पर्वत चोटी पर विजय प्राप्त कर अपनी इस उपलब्धि से छत्तीसगढ़ को गौरवान्वित किया है। नैना का चयन इस साल माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई करने वाले पर्वतारोहियों के दल में किया गया था। 
गरीब परिवार की सदस्य हैं नैना 
बस्तर के जगदलपुर जिला मुख्यालय से दस किमी दूर बस्तर ब्लाक के ग्राम एक्टागुड़ा में एक गरीब परिवार की सदस्य नैना बीते दस साल से पवर्तारोहण के क्षेत्र में सक्रिय हैं।नैना सिंह धाकड़ एक्टागुड़ा में जन्मी और पली-बढ़ी हैं। पिता का साया बचपन में ही उठ गया। मां ने मिलने वाली पेंशन की राशि से परिवार का भरण पोषण किया और बच्चों को शिक्षित बनाया।उसने जगदलपुर स्थित महारानी लक्ष्मीबाई कन्या हायर सेकंडरी स्कूल से हायर सेकंडरी और बस्तर विश्वविद्यालय से स्नातक की पढ़ाई करने के बाद वह 2009 में पर्वतारोहण के क्षेत्र में जाने का फैसला किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *