पेंशन प्रकरणों को लेकर अब नहीं भटकना पड़ेगा…अभियान चलाकर शासकीय कर्मचारियों के पेंशन प्रकरणों का होगा निराकरण

कलेक्टर डॉ. प्रियंका शुक्ला ने अभियान चलाकर शासकीय कर्मचारियों के पेंशन प्रकरणों का निराकरण करने के लिए सभी आहरण संवितरण अधिकारियों को निर्देशित किया है। महिला एवं बाल विकास, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, शिक्षा विभाग, जिला पंचायत इत्यादि विभाग जिनमें कर्मचारियों की संख्या एवं पेंशन प्रकरण लंबित है, उन विभागों में पेंशन प्रकरणों का निराकरण हेतु अभियान चलाने के लिए निर्देशित किया गया। इस कार्य की मॉनिटरिंग जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी सुमीत अग्रवाल द्वारा की जायेगी।

डॉ. प्रियंका शुक्ला ने राज्य शासन द्वारा लिये गये निर्णयानुसार जिले में 01 नवम्बर से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए तैयारी करने हेतु सभी नोडल अधिकारी एवं संबंधित क्षेत्र के एसडीएम को निर्देशित किया है। मुख्यमंत्री भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में प्राप्त आवेदनों को त्वरित निराकृत करने के निर्देश भी दिये हैं। उन्होंने महिलाओं में एनीमिया से मुक्ति के लिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को दिये हैं। शासकीय जिला चिकित्सालय कांकेर एवं भानुप्रतापपुर के हमर लैब का समुचित उपयोग सुनिश्चित करने के लिए उप स्वास्थ्य केन्द्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर मरीजों का सेम्पल लेकर हमर लैब में सेम्पल भेजने तथा वहां सेम्पल की जांच होने के बाद रिपोर्ट मरीजों को उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया गया।

प्रियंका शुक्ला द्वारा राजस्व प्रकरणों के निराकरण की समीक्षा भी की गई तथा नामांतरण, बंटवारा, डायवर्सन के प्रकरणों को शीघ्र निराकृत करने तथा नजूल भू-भाटक वसूली में तेजी लाने के निर्देश दिये गये। अनुविभागीय अधिकारी कांकेर धनंजय नेताम द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा अभियान चलाकर 15 लाख रूपये की नजूल भू-भाटक वसूली की गई है।

कलेक्टर ने गोधन न्याय योजनांतर्गत गोबर की खरीदी और उससे वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण एवं उसके विक्रय की भी समीक्षा किया। खरीदे गये गोबर का भुगतान सुनिश्चित करने एवं सक्रिय गोबर विक्रेताओं की संख्या बढ़ाने के लिए निर्देशित किया गया। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजनांतर्गत सभी ग्राम पंचायतों में तत्काल रोजगार गारंटी कार्य शुरू करने के निर्देश दिये गये। सभी एसडीएम को अपने क्षेत्र के गांवों में बनाये गये सामुदायिक भवनों की सूची उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया गया है। छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक आयोजन की समीक्षा भी उनके द्वारा की गई तथा विकासखण्ड स्तर पर बढ़िया आयोजन करने के निर्देश दिये गये। इस अवसर पर अपर कलेक्टर कांकेर एस. अहिरवार, अपर कलेक्टर अंतागढ़ चन्द्रकांत वर्मा, एसडीएम भानुप्रतापपुर प्रतीक जैन सहित विभिन्न विभागों के जिला अधिकारी, सभी एसडीएम, तहसीलदार, जनपद सीईओ एवं नगरीय निकायों के अधिकारी मौजूद थे। बैठक में ब्लॉक एवं अनुविभाग स्तर के अधिकारी वीडियो कान्फें्रसिंग के माध्यम से जुड़े थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *