आठवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर बेहतर स्वास्थ्य के लिए लोगों ने किया योग

रामानुजगंज(पृथ्वीलाल केशरी)अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस की शुरुआत साल 2014 में हुई प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विशेष प्रयासों की वजह से ही संयुक्त राष्ट्र ने 21जून को इंटरनेशनल योगा डे के रूप में मान्यता दी पीएम मोदी ने ही सबसे पहले दुनिया के सामने यह आइडिया दिया था 11 दिसंबर, 2013 को यूएन ने इसे मान्यता दी।नियमित रूप से योग करने से,आसन और प्राणायाम करने से शारीरिक क्षमता बढ़ती है,स्वास्थ्य बेहतर और सेहतमंद होता है।उक्त उद्गगार नगर पंचायत अध्यक्ष रमन अग्रवाल ने आठवें अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस के अवसर पर काका लरंगसाय कम्युनिटी टाउनहॉल में आयोजित योग शिविर में कही।

उन्होंने यह भी कहा कि युगों युगों से हमारे ऋषि-मुनियों ने योग और तप के बल पर निरोगी रहकर हजारों वर्ष तक जीवित रहते थे। भारत ही इस वैदिक विद्या को भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी ने आज से 8 वर्ष पूर्व एक दृढ़ संकल्प लेकर पूरे भारत में योग दिवस के रूप में स्थापित किया जो आज पूरे विश्व में एक वैश्विक स्वरूप ले लिया है। यही है हमारी पहचान यही हमारी सनातन परंपरा यही हमारी वैदिक विद्या रहा है। अध्यक्ष ने सभी को नियमित रूप से योग करने के सुझाव के साथ अंतरराष्ट्रीय योगा दिवस की सभी को शुभकामनाएं दिए। इस अवसर पर एसडीएम गौतम सिंह तहसीलदार विनीत सिंह सीएमओ दीपक एक्का कनिष्ठ यंत्री अक्षय कुमार सिंह डॉ विकास जयसवाल पार्षदों में अशोक जयसवाल विजय रावत सहित नगर के गणमान्य नागरिकों,अधिकारी कर्मचारियों ने योग मे हिस्सा लिया। योग गुरु के रूप मे राजेश प्रजापति ने उपस्थित जनों को इतना योग कराया कि लोगों के वस्त्र गीले हो गए जो कुछ समय के लिए हंसी ठहाके का पात्र बना रहा।

न्यायालय परिसर में भी आयोजित हुआ योग शिविर
जिले के राजपुर न्यायालय परिसर में योग दिवस का आयोजन किया गया जहां न्यायाधीश अधिवक्ता व न्यायालयीन कर्मियों ने योग किया इस अवसर पर न्यायधीश सुश्री आकांक्षा बेक ने कहा कि योग मानसिक व शारीरिक स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। इस अवसर पर अधिवक्ता जय गोपाल अग्रवाल सुनील सिंह,जितेंद्र गुप्ता अशोक बेक,लाल मोहन राम व न्यायालयीन स्टॉप संतोष ठाकुर,आनंद,आराधना अन्य लोग मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *