Pitru Paksha 2023: 29 या 30 सितंबर प्रतिपदा तिथि का श्राद्ध कब ? जानें सही डेट

Shri Mi
3 Min Read

Pitru Paksha 2023, Pitru Paksha 2023 Start Date:पितृ पक्ष को अपने पूर्वजों को सम्मान देने का समय है। पिंडदान और श्राद्ध पक्ष में तर्पण करने से न सिर्फ पितरों को खुशी मिलती है, बल्कि उनके पूर्वजों का ऋण भी चुकता होता है।

भाद्रपद महीने की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा से अक्टूबर महीने की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तक पितृ पक्ष चलता रहता है।

पितृ पक्ष इस वर्ष 29 सितंबर 2023 से शुरू होगा। इस वर्ष पितृपक्ष की पहली श्राद्ध तिथि, या प्रतिपदा तिथि, को लेकर मतभेद है। जाने कि पितृपक्ष 2023 में कब होगा।

यह भी पढ़े

29 या 20 सितंबर को होगा प्रतिपदा तिथि का श्राद्ध ? (Pitra Paksha 2023 First shradha tithi)

अश्विन कृष्ण प्रतिपदा तिथि 29 सितंबर को दोपहर 03.26 मिनट से 30 सितंबर दोपहर 12.21 मिनट तक रहेगी. पितृ पक्ष में पूर्वजों का श्राद्ध दोपहर के समय किया जाता है. यही वजह है कि 29 सितंबर को प्रतिपदा तिथि का श्राद्ध मान्य होगा. पूर्णिमा का श्राद्ध पितृ पक्ष के आखिरी दिन सर्व पितृ अमावस्या पर किया जाता है. इस साल सर्व पिृत अमावस्या 14 अक्टूबर को है.Pitru Paksha 2023

श्राद्ध कर्म करने का सही समय क्या है? (Shradha Time)

पितृ पक्ष में दोपहर के समय धूप-ध्यान करना चाहिए. शास्त्रों के अनुसार सुबह और शाम को देवी-देवताओं के लिए पूजा-पाठ की जाती है. दोपहर का समय पितरों को समर्पित है. इस दौरान ही कौवे, चींटी, गाय, देव, कुत्ते को पंचबलि भोग देना चाहिए, ब्राह्मण भोजन कराना चाहिए. दोपहर में करीब 12 बजे पितरों को याद करते हुए श्राद्ध कर्म करें. श्राद्ध संपन्न करने के लिए कुतुप, रौहिण मुहूर्त अच्छे माने गए हैं.

16 श्राद्ध में करें ये 3 काम (Pitra Paksha Upay)

  • पितृ पक्ष में पवित्र नदी में स्नान करें. नदी किनारे ही तर्पण की विधि संपन्न करें. हाथ में कुशा लेकर पूर्वजों को जल दें. इस विधि से ही पूर्वज स्वीकार करते हैं.
  • पितरों के नाम पर जरूरतमंद लोगों को अनाज, जूते-चप्पल, धन और कपड़ों का दान करें. किसी गोशाला में हरी घास दान करें.
  • मंदिर या किसी सावर्जनिक स्थान पर छायादार पेड़ों के पौधे लगाएं और उसके संरक्षण का संकल्प लें.Pitru Paksha 2023

Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. यहां यह बताना जरूरी है कि cgwall किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें.

यह भी पढ़े
By Shri Mi
Follow:
पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
close