PM नरेंद्र मोदी के ‘सबके विश्वास’ बयान पर ओवैसी ने कसा तंज, कह दी यह बड़ी बात


नई दिल्ली-
संसद के सेंट्रल हॉल में ‘सबका साथ सबका विकास’ के साथ ‘सबका विश्वास’ हासिल करने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान पर एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने बेहद तीखी प्रतिक्रिया दी है. पीएम मोदी के अल्पसंख्यकों को लेकर कहे गए ‘काल्पनिक भय’ शब्द को आधार बनाते हुए ओवैसी ने कथित गौ-रक्षकों द्वारा की जा रही हत्याओं पर तीखी प्रतिक्रिया दी है. ओवैसी ने कहा, ‘अगर पीएम मोदी इस बात से सहमत हैं कि अल्पसंख्यक भय में रहते हैं, तो उन्हें पता होना चाहिए कि अखलाक की हत्या करने वाले लोग उनकी चुनावी जनसभा में सामने बैठे थे.’सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे

बीजेपी में मुस्लिम सांसदों पर कसा तंज
असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, ‘अगर पीएम को लगता है कि मुसलमान डर में रहते हैं, तो क्या वह उन गिरोहों को रोकेंगे, जो गाय के नाम पर मुसलमानों की हत्या कर रहे हैं, हमारे वीडियो ले रहे हैं और हमें नीचा दिखा रहे हैं? क्या पीएम हमें बता सकते हैं कि उनकी पार्टी के 300 में से कितने मुस्लिम सांसद हैं जो लोकसभा से चुने गए? उनका (मोदी) बयान विरोधाभासी है, जो पिछले 5 सालों से पीएम और उनकी पार्टी कर रही है.

यह भी पढे-नरेंद्र मोदी के शपथ की तारीख तय…प्रधानमंत्री के साथ केंद्रीय मंत्री भी लेंगे शपथ…राष्ट्रपति ने ट्वीट कर दी जानकारी

मुस्लिम धर्मगुरू ने किया मोदी के बयान का स्वागत
हालांकि मुस्लिम धर्मगुरू यासूब अब्बास ने कहा कि अल्पसंख्यक वर्ग पर पीएम मोदी का बयान स्वागतयोग्य है. हमें उम्मीद है कि वह मुस्लिम समुदाय के डर को दूर करने में सफल होंगे. अब तक पार्टियों ने मुसलमानों को अपने वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया है. मैं इस पक्ष में हूं कि मुसलमानों को उनका उचित अधिकार मिलना चाहिए.

क्या कहा था पीएम मोदी ने
शनिवार को संसद के सेंट्रल हॉल में पीएम मोदी ने कहा था कि गरीबों के साथ जैसा छल हुआ, वैसा ही छल देश के अल्पसंख्यकों के साथ हुआ है. दुर्भाग्य से देश के अल्पसंख्यकों को उस छलावे में ऐसा भ्रमित और भयभीत रख गया है. उससे अच्छा होता कि अल्पसंख्यकों की शिक्षा, स्वास्थ्य की चिंता की जाती. 2019 में आपसे अपेक्षा करने आया हूं कि हमें इस छल को भी छेदना है. हमें उनका (अल्पसंख्यकों) विश्वास जीतना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *