पुलिस कप्तान ने लिया बलवा और सुरक्षा प्रदर्शन का जायजा..कहा..हमें जवानों पर गर्व..फिर भी सुधार की गुंजाइश

बिलासपुर—गौरेला पेन्ड्रा मरवाही पुलिस और प्रशासन ने संभावित खतरों और बलवा जैसे मामलों को लेकर माकड्रिल किया। बलवा ड्रिल की तैयारियों का जीपीएम पुलिस  कप्तान ने जायजा लिया। मॉकड्रिल का आयोजन पुलिस लाइन परिसर में किया गया।
 
              जीपीएम जिला स्थित रोड चौड़ीकरण, के दौरान घरों में तोड़फोड़ को लेकर आम जनता ने सड़क पर उतर कर उग्र प्रदर्शन किया। विरोध में स्थानीय लोगों ने चक्का जाम कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस टीम मौके पर पहुंची। खबर मिलते ही राजस्व की टीम भी घटनास्थल पहुंचकर लोगों को नियंत्रित करने का प्रयास किया।
 
                     एडिश्नल एसपी अर्चना झा ने बताया कि पुलिस और राजस्व टीम ने इस दौरान प्रदर्शन करने वालों को समझाने का प्रयास किया। बात नहीं मानने की सूरत में प्रशासन के निर्देश पर पुलिस ने बलवाइयों को तितर बितर किया। इस दौरान वाटन केनन और हल्का बल प्रयोग भी किया गया। अश्रुगैस के गोले भी दागे गए।
 
                  अर्चना झा ने बताया कि मॉकड्रिल के दौरान हिंसक प्रदर्शन और पथराव किए जाने पर उपस्थित मजिस्ट्रेट ने फायरिंग का आदेश दिया। पुलिस ने भीड़ को तितर बितर करने हवाई फायर किया। इस दौरान 5 बलवाई घायल हुए। घटनाक्रम में 2 पुलिस वालों को पत्थर लगने से चोट पहुंची। 
                 
               अर्चना झा ने बताया कि दरअसल यह सब मॉकड्रिल के दौरान प्रदर्शन के दौरान हुआ। एडिश्नल एसपी ने बताया कि जीपीएम रक्षित केंद्र में प्रदर्शन पुलिस कप्तान त्रिलोक बंसल की उपस्थिति में हुआ। सभी गतिविधियों का पुलिस कप्तान ने जायजा लिया। उन्होने बताया कि कानून व्यवस्था को नियंत्रित करने में समय और तत्परता का अहम योगदान होता है। हमें हमेशा ऐसी स्थिति के लिए तैयार रहना होगा। मॉकड्रिल के जरिए हमने विपरीत हालात के लिए खुद को तैयार किया है। कानून व्यवस्था स्थापित करने और ड्यूटी के दौरान हमें कई विपरीत परिस्थियों से जूझना पड़ता है। इन सबसे किस तरह निपटा जाता है..इस बात को लेकर हमने मॉक्ड्रिल किया। कार्यक्रम को देखकर उन्हें खुशी हुई। खुशी इस बात को लेकर भी है कि हमारे जवान विपरीत परिस्थियों के लिए हमेशा तैयार हैं।
 
          अर्चना झा ने बताया कि मॉकड्रिल का अभ्यास  उपस्थित कर्मचारियों और अधिकारियों की अलग अलग टीम बनाकर किया गया। इसके पहले पुलिस कप्तान बंसल ने बलवा ड्रिल में सभी पार्टियों के सदस्यों को ब्रीफिंग भी किया। पुलिस ने इस दौरान होने वाली छोटी-छोटी खामियों के को दूर किए जाने की भी बात कही।
 
                        मॉकड्रिल के समय अनुविभागीय अधिकारी राजस्व पुष्पेंद्र शर्मा, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस अशोक वाडेगावकर, आई. तिर्की, तहसीलदार इंदिरा मिश्रा, शेष नारायण जायसवाल, रक्षित निरीक्षक रामप्रसाद पैकरा, थाना गौरेला प्रभारी युवराज तिवारी और रक्षित केंद्र और थानों के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *