पुलिस कप्तान का ऑन स्पॉट फैसला..ग्रामीणों में खुशी..एसपी ने दिया बच्चों के सवाल का जवाब ..एडिश्नल एसपी ने समझाया फ्रॉड काल का खेल

बिलासपुर– गौरेला पेन्ड्रा मरवाही पुलिस ने तुंहर पुलिस तुँहर दुआर कार्यक्रम के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में चलित थाना लगाया। इस दौरान छोटे बड़े कई पुराने मामलों का पुलिस कप्तान ने आन स्पॉट फैसला सुनाया। ग्रामीणों ने भी फैसले का स्वागत किया। ग्रामीणों ने बताया कि बहुत दिनों बाद इस प्रकार के त्वरित फैसला से उन्हें ना केवल राहत मिली है। बल्कि इस दौरान आने वाली तमाम प्रकार की परेशानियों का भी सामना नहीं करना पड़ा है।
 
                जीपीएम पुलिस कप्तान त्रिलोक बंसल का सामुदायिक पुलिसिंग अभियान की जिले में जमकर चर्चा है। लोगों की माने तो ग्रामीण क्षेत्रों में तुंहर पुलिस तुँहर दुआर कार्यक्रम के तहत चलित थाना लगाकर पुलिस कप्तान जनता से संवाद कर रहे हैं। साथ ही अधिकारियों को भी चलित थाना के माध्यम से जनता की समस्याओं का दूर किए जाने का निर्देश भी दे रहे है। पुलिस कप्तान के प्रयास को जमकर पसंद भी किया जा रहा है। 
 
                 इसी क्रम में जीपीएम पुलिस कप्तान त्रिलोक बंसल के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस कप्तान अर्चना झा, एसडीओपी अशोक वाडेगांवकर के मार्गदर्शन में जगह जगह चलित थाना लगाया गया। रविवार को थाना गौरेला के लालपुर , पेण्ड्रा के कोड़ग़ार और थाना मरवाही के ग्राम सेमरदर्री में चलित थाना लगाकर अधिकारियों ने लोगों की समस्याओं का तत्काल निराकरण किया।
 
                   पुलिस कप्तान त्रिलोक बंसल खुद ने चलित थाना मरवाही के ग्राम सेमरदर्री में शिरकत किया। कार्यक्रम में पहुंचकर उपस्थित जनसामान्य और बच्चों के साथ बंसल ने संवाद किया।  इस दौरान बच्चों की तरफ से पूछे गए कैरियर संबंधी सवालों का जवाब दिया। साथ ही उपस्थित लोगों की कई समस्याओं को समझा और आनस्पॉट फैसला भी किया।
 
       उपस्थित लोगों को पुलिस कप्तान ने बताया कि पुलिस का एक एक कर्मचारी जनता के बीच से है। पुलिस को अच्छी तरह से मालूम है कि जनता को किन परेशानियों से हमेशा दो चार होना पड़ता है। लेकिन समस्याओं को मिल बैठकर भी सुलझाया जा सकता है। बंसल ने कहा कि पुलिस का दरवाजा हमेशा जनसेवा के लिए खुला है। कोई भी व्यक्ति अपनी समस्या लेकर जनदर्शन में आ सकता है। इस दौरान लोगों की समस्याओं का त्वरित हल करने का हरसंभव प्रयास किया जाएगा। 
              एडिश्नल एसपी अर्चना झा ने बताया कि अलग अलग लगाए गए चलित थाना में जनता की समस्याओं की कई समस्याओं का त्वरित निदान किया गया। ग्रामीणों को ऑनलाइन धोखाधड़ी, एटीएम फ्रॉड, फर्जी लाटरी, इनाम, बीमा संबंध में मोबाइल फोन से पूंछे जाने वाले ओटीपी के बारे में बताया गया। सभी को समझाया गया कि किसी भी अन्जान काल से किस प्रकार बचें। साथ ही सड़क दुर्घटनाओं को बचने की भी जानकारी दी गकयी। लोगों को यातायात नियमों का पालन करने को भी कहा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *