पुलिस ने बनाया रिकार्ड..डेढ़ साल में 67 लाख की मोबाइल जब्त..ढाई महीने में 121 हैण्डसेट बरामद ..कुल 17 लाख का मोबाइल बरामद

रायगढ़— रायगढ़ पुलिस कप्तान संतोष सिंह ने खुलासा किया कि पिछले एक साल में पुलिस ने चोरी और गुम हुई कुल 67 लाख का मोबाइल जब्त किए हैंं। जबकि पिछले ढाई महीने में साइबर सेल ने खोजबीन के दौरान गायब 121 हैण्डसेट को बरामद किया है। बरामद मोबाइल की कीमत करीब 16 लाख 80 हजार रूपयों से अधिक है। इसमें कुछ मोबाइल बहुत ही कीमती हैं।
 
          लॉकडाउन के बीच रायगढ़ पुलिस कप्तान के विशेष निर्देश में थानावार लंबित अपराधों की विवेचना, शिकायत, गुम इंसानों की जांच की गति को गंभीरता से लिया गया। लंबित जांच, विवेचना के साथ सभी थानाक्षेत्र अन्तर्गत लॉकडाउन का कड़ाई से पालन कराने का भी आदेश दिया गया।
 
         पुलिस अधीक्षक के निर्देशन पर सायबर सेल की टीम ने ढाई महीने में 121 गुम- चोरी हुए मोबाइल को ट्रेश कर बरामद किया गया। पुलिस के अनुसार गुम या चोरी हुए सभी मोबाइलों को जिला, प्रदेश समेत अन्य राज्यों में खंगाला गया। कई प्रदेशों में लॉकडाउन प्रभावी होने के कारण दर्जनों मोबाईल कोरियर में लटके हुये हैं। पुलिस कप्तान का दावा है कि जल्द ही सभी 121 मोबाइल हैण्डसेट मिल जाएंगे। 121 मोबाइल हैण्डसेट की कीमत करीब 16,80,500 रूपये से अधिक है।
 
                  रायगढ़ पुलिस कप्तान ने बताया कि मोबाइल हैण्डसेट बरामदगी अभियान में सायबर सेल ने जमकर काम किया है। जानकारी के अनुसार पिछले साल 382 मोबाइल और विगत ढाई महीने में 121 मोबाइल  को मिलाकर कुल 503 मोबाइल या तो गुम हुई है या फिर चोरी हुए हैं। जिनकी अनुमानित कीमत 67 लाख रूपये है। संतोष कुमार ने बताया कि पिछले ढे़ड़ साल में बरामद ज्यादातर मोबाइलों को मालिक के हवाले कर दिया गया है। 
 
  संतोष कुमार ने बताया कि साइबर सेल और पुलिस की टीम ने गुम मोबाइलों को ओडिशा, पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड के कई जिलों से बरामद किया है। राज्य के बिलासपुर, जांजगीर-चाम्पा, रायपुर, बलौदाबाजार, जशपुर, महासमुंद, अम्बिकापुर क्षेत्र से भी मोबाइलों को जब्त किया गया है। साथ ही आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया है।
 
              पुलिस कप्तान ने कहा कि दर्जनों लोगों ने अभियान को देखते हुए खुद ही सायबर सेल पहुंचकर मोबाइल जमा किया है। पुलिस  कप्ताने जानकारी दी कि सायबर सेल  से मोबाईल के गुम या चोरी के आवेदन पर  ट्रेश करने के दौरान उपयोगकर्ता से संपर्क कर मोबाइल लौटाने को  कहा जाता है। बावजूद इसके यदि उपयोगकर्ता मोबाईल वापय नहीं करता है तो उस पर वैधानिक कार्यवाही की जाती है।              

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *