BJP का प्रशिक्षण वर्ग,छत्तीसगढ़ के विकास मे प्रधानमंत्री के योगदान को जन जन तक पहुंचाने की तैयारी

बिलासपुर।भारतीय जनता पार्टी बिलासपुर का जिला स्तरीय प्रशिक्षण वर्ग के द्वितीय दिवस को झूलेलाल मंगलम, थोक फल-सब्जी मंडी रोड, तिफरा, बिलासपुर में प्रशिक्षण वर्ग का शुभारंभ भारत माता, पं.दीनदयाल उपाध्याय, डॉ.श्यामा प्रसाद मुखर्जी के छाया चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर की गई।प्रशिक्षण वर्ग के द्वादश सत्र को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष विष्णुदेव साय ने पिछले छः वर्षो में अंत्योदयी पहल विषय पर अपना उद्बोधन देते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी अपनी पंच निष्ठाओं में से एक सामाजिक आर्थिक विषयों पर गांधीवादी दृष्टिकोण जिससे शोषणमुक्त-समतायुक्त समाज की स्थापना हो से उसके लिए कृतसंकल्पित है। भाजपा अंत्योदय की संकल्पना में विश्वास करती है। पं.दीनदयाल उपाध्याय ने कहा था कि हमारी भावना और सिद्धांत है कि मैले कुचैले, अनपढ़, सीधे-सादे लोग हमारे नारायण है। हमें इनकी पूजा करनी है। यह हमारा सामाजिक एवं मानव धर्म है। जिस दिन हम इनको पक्के सुंदर सभ्य घर बनाकर देंगे, जिस दिन हम इनके हाथ और पांव की बिवाईयों को भरेंगे और जिस दिन इनको उद्योगों और धंधों की शिक्षा देकर इनकी आय को ऊंचा उठा देंगे, उसी दिन हमारा भ्रातृभाव व्यक्त होगा। नरेन्द्र मोदी की सरकार ने पिछड़ों, दलितों, वंचितों एवं शोषितों के विकास और उनके उत्थान के लिए महत्वपूर्ण पहल की है।

त्रयोदस सत्र प्रदेश की राजनैतिक परिदृश्य-भाजपा की भूमिका विषय पर सांसद अरूण साव ने संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ का इतिहास प्राचीनतम एवं महान है, जहॉ प्रागैतिहासिक काल के दुनिया के सबसे पुराने चित्र मौजूद है। 2003 में छत्तीसगढ़ प्रदेश में प्रथम निर्वाचित सरकार डॉ.रमन सिंह के नेतृत्व में भाजपा की बनी। 15 साल तक भाजपा सरकार ने छत्तीसगढ़ में विकास के नये आयाम रचे जिसके कार्यो को पूरे विश्व में चर्चा रही। इस प्रकार छत्तीसगढ़ निर्माण से लेकर प्रदेश के विकास तक सभी स्थानों पर भाजपा ने अपनी भूमिका अपना सर्वश्रेष्ठ देकर निर्वहन किया। छत्तीसगढ़ राज्य की राजनैतिक इतिहास में कांग्रेस ने प्रदेश का शोषण किया, लेकिन भाजपा ने प्रदेश में एक स्थिर सरकार दिया। आज छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री ने योगदान को जन-जन तक पहुॅचाना और छत्तीसगढ़ की वर्तमान कांग्रेस सरकार की असफलता के विरूद्ध प्रभावी जनसंघर्ष ही हमारी भूमिका है।

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष एवं जिला संगठन प्रभारी मोतीलाल साहू ने एकादश सत्र को व्यक्तित्व विकास विषय पर अपना उद्बोधन देते हुए कहा कि भाजपा का लक्ष्य देश का सर्वांगीण विकास है। यह विकास तभी संभव होगा जब इसके लिए राष्ट्रहित सर्वोपरि भाव से जीवन जीने वाले हजारों लाखों कार्यकर्ता समूचे देश में खड़े हो, आज जो भाजपा के कार्य का विशाल स्वरूप हमें दिखाई देता है वो इसी का कारण है कि उदात्त लक्ष्य की पूर्ति हेतु अपने जीवन को एक दिशा देकर समर्पित भाव से सार्थक जीवन जीने की प्रयास एवं लोक संपर्क लोक सेवा लोक जागरण के माध्यम से अंत्योदय के लक्ष्य को प्राप्त करने के अथक और अविरल प्रयास संपूर्ण देशभर में भाजपा के कार्य के विविध आयामों के माध्यम से हम कर रहे है। हमारे पार्टी का सदस्य अपने आस-पड़ोस के नागरिकों के लिए एकाकार से नेतृत्व ही करता है। ऐसे नेतृत्व करने वाले लोगों को व्यक्तित्व सर्वांगीण ही बनना आवश्यक है।

भाजपा प्रांतीय सहप्रभारी प्रशिक्षण विभाग अवधेश जैन ने अष्टम सत्र में आज के भारत की मुख्य विचारधारा हमारी विचारधारा विषय पर कहा कि कांग्रेस ने अपने लोकतांत्रिक समाजवादी, समाजवादियों ने अपने को भारतीय समाजवादी तथा साम्यवादियों ने अपने को वैज्ञानिक सामाजवादी कहा। ये सभी भौतिकवादी पाश्चात्य विचारधारा के अनुगामी थे। डॉ.मनमोहन सिंह ने पीछे से भूमंडलीकरण के नाम पर पूंजीवाद को राजनीति में स्थापित कर दिया। जाने-अनजाने में सभी दल भूमंलीकरणवादी हो गए। हमें भारतीयता के प्रवाह को कुछ और तेज करना होगा।
नवम् सत्र में भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य राजा पाण्डेय ने अपनी कार्यपद्धति और संगठन संरचना में हमारी भूमिका विषय पर उद्बोधन देते हुए कहा कि भाजपा आज विश्व की सबसे बड़ी राजनैतिक पार्टी के रूप में उभरकर सामने आई है।

1951 से लेकर 1977 तक भारतीय जनसंघ के रूप में 1977-1980 जनता पार्टी और 1980 से लेकर आज तक भाजपा के रूप में राष्ट्रवाद-सुशासन और गरीबों के विकास को लेकर हम काम करते रहे है। सामूहिकता एवं पारस्परिकता का संस्कार शरीर, मन, बुद्धि पर होना अपनी संगठनात्मक गतिविधियों के माध्यम से संभव होता है। कार्यपद्धति की एक अति महत्वपूर्ण बात हमारी निर्णय प्रक्रिया है।

सप्तम सत्र में प्रशिक्षण विभाग के प्रांतीय सदस्य अनिल केशरवानी ने भारत वैश्विक परिदृश्य विषय पर संबोधित करते हुए कहा कि हाल के वर्षो में दुनिया के साथ भारत का जुड़ाव मूलतः इसके आर्थिक विकास और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के असाधारण राजनीतिक नेतृत्व के कारण संभव हुआ है। वर्तमान भारतीय प्रशासन समझ गया है कि हमारे घरेलू उद्देश्यों को हासिल करने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय के साथ जुड़ाव की आवश्यकता होगी। इसी प्रकार समकालीन समय में भारत की सैन्य, कूटनीतियों और आर्थिक शक्तियों ने पारंपरिक विदेश नीति के दृष्टिकोण से आगे बढ़कर व्यापक वैश्विक प्रतिबद्धताओं की ओर अपना रूख किया।

दशम् सत्र को भाजपा प्रदेश किसान मोर्चा के प्रदेश प्रभारी संदीप शर्मा ने भारत का बढ़ता सुरक्षा सामर्थ्य विषय पर कहा कि भारत को स्वतंत्रता मिली तो यहॉ रक्षा उत्पादन एवं रक्षा क्षेत्र के विकास के लिए अपार संभावनाएं, क्षमता एवं परिवेश उपलब्ध था लेकिन दशकों तक कोई गंभीर प्रयास नही हुए। अटल बिहारी वाजपेयी जब प्रधानमंत्री बने तब देश ने रेक्षा क्षेत्र में महत्वपूर्ण कदम उठाए। पोखरण परीक्षण-2 के बाद देश परमाणु शक्ति संपन्न बना। नरेन्द्र मोदी ने साल 2014 में प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के साथ ही रक्षा को अत्यधिक प्राथमिकता दी है। एक समग्र दृष्टिकोण अपनाकर सुरक्षा बलों की विभिन्न आवश्यकता पर ध्यान देते हुए आधुनिकरण एवं सशक्तिकरण एवं आत्मनिर्भर पर बल दिया।

द्वितीय दिवस प्रशिक्षण वर्ग के सत्र् की अध्यक्षता महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय, मर्चेंट एसोशिएशन व्यापार विहार के अध्यक्ष विनोद मेघानी, सचिव मॉ महामाया ट्रस्ट रतनपुर सुनील सोंथालिया, समाजसेवी बिलासपुर सुधीरा खण्डेलवाल, चिकित्सक बिलासपुर डॉ.राजीव रत्न तिवारी, पूर्व महापौर किशोर राय, अध्यक्ष अग्रवाल सभा बिलासपुर किशन बुधिया ने किया।

इस मौके पर प्रमुख रूप से मस्तूरी विधायक डॉ.कृष्णमूर्ति बांधी, बेलतरा विधायक रजनीश सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत, जिला महामंत्री मोहित जायसवाल, अमरजीत सिंह दुआ, बृजभूषण वर्मा, रूक्मणी कौशिक, तिलक साहू, अवधेश अग्रवाल, रामू साहू, सुधा गुप्ता, दीपमाला कुर्रे, एस कुमार मनहर, राजेश सूर्यवंशी, जयश्री चौकसे, कृष्ण कुमार कौशिक, चंद्रप्रकाश सूर्या, दुर्गा प्रसाद कश्यप, चंद्रप्रकाश मिश्रा, निर्मल कुमार जीवनानी, अजीत सिंह भोगल, अरविंद बोलर, सोमेश तिवारी, पेंगनलाल वर्मा, बलराम देवांगन, लक्ष्मी कश्यप, विनोद सोनी, राजेन्द्र राठौर, हरनारायण तिवारी, राज्यवर्धन कौशिक, तिरिथराम यादव, महाराज सिंह नायक, दयाशंकर तिवारी, बीआर महोबिया, संतोष कश्यप, सीमा पाण्डेय, पल्लव धर, डॉ.रजनीश पाण्डेय, योगेश बोले, कन्हैया यादव, घनश्याम दीक्षित, मनहरण यादव, युगलकिशोर झा, विनोद सिंह, स्नेहलता शर्मा, सुनील तिवारी, नीता श्रीवास्तव, मनीष अग्रवाल, प्रबीरसेन गुप्ता, प्रवीण दुबे, दीपक सिंह ठाकुर, विजय ताम्रकार, शंकरदयाल शुक्ला, रामनारायण भारद्वाज, विक्रम सिंह, प्रदीप शुक्ला, घनश्याम रात्रे, तामेश्वर कौशिक, रामकिशोर देवांगन, अशोक कौशिक, लोकेशधर दीवान, तिलक देवांगन, अमित तिवारी, वल्लभ राव, अमित चतुर्वेदी, प्रकाश यादव, बबलू कश्यप, दिनेश पाण्डेय, मनीराम ध्रुव, मनीष कौशिक, वंदना जेण्ड्रे, नैनलाल साहू, गायत्री साहू, राधेश्याम मिश्रा, रामनाथ तिवारी, अभिलेश यादव, प्रदीप कौशिक, राकेश मिश्रा, नरेन्द्र कोशले, शैलेन्द्र यादव, संध्या चौधरी, गोपाल यादव, लक्ष्मी यादव, संध्या सिंह, कृष्णा रजक सहित भाजपा पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *